हर हफ्ते मिसाइल टेस्ट करेंगे: नॉर्थ कोरिया; हद में रहें तो बेहतर: ट्रम्प

Daily news network Posted: 2017-04-18 12:44:29 IST Updated: 2017-04-18 12:44:29 IST
हर हफ्ते मिसाइल टेस्ट करेंगे: नॉर्थ कोरिया; हद में रहें तो बेहतर: ट्रम्प

प्योंगयांग।

अंतरराष्ट्रीय दबावों और अमरीका के साथ सैन्य तनावों के बढऩे के बाद भी उत्तर कोरिया ने कहा कि वह अपना मिसाइल परीक्षण का कार्यक्रम लगातार जारी रखेगा। उत्तर कोरिया के उप-विदेश मंत्री हांग सोंग यॉल ने कहा कि हम साप्ताहिक, मासिक और वार्षिक आधार पर अपना मिसाइल परीक्षण का कार्यक्रम जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि यदि अमरीका ने सैन्य कार्रवाई की तो उसे भी युद्ध का नतीजा भुगतना पड़ेगा। वहीं अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने उत्तर कोरिया को अपनी हद में रहने के लिए कहा है। 


उत्तर कोरिया के वाइस फॉरेन मिनिस्टर हान सोंग-रेयोल ने कहा कि अब हम वीकली, मंथली और ईयरली बेसिस पर करेंगे। हमारे एटमी हथियार देश की सुरक्षा के लिए हैं। वहीं यूएन में उत्तर कोरिया के डिप्टी एंबेस्डर किम इन रेयोंग ने कहा, हम हर तरह की जंग की तैयारी कर रहे हैं। हमारा मानना है कि अमेरिका की मिलिट्री कार्रवाई से इसे बढ़ावा मिलेगा। हम मिसाइल या न्यूक्लियर अटैक से एक्शन का जवाब देंगे।



 


रेयोंग ने यूएन हेडक्वार्टर में कहा, अगर अमरीका मिलिट्री कार्रवाई में नहीं हिचकता तो हम भी जवाब देने के लिए तैयार हैं। अमरीकी धमकियों से निपटने के लिए नॉर्थ कोरिया सुरक्षात्मक रवैया अपना चुका है। ये हमारी एटमी हमले और इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल की ताकत को दिखाता है। रेयोंग ने ये भी कन्फर्म किया कि नॉर्थ कोरिया नए यानी छठा न्यूक्लियर टेस्ट की तैयारी कर रहा है। टेस्ट कब और कहां होगा, इस बारे में हेडक्वार्टर ही फैसला लेगा।



इससे पहले अमरीकी उप-राष्ट्रपति माइक पेंस ने चेतावनी दी थी कि वह अमरीका के धैर्य का परीक्षण न करे। उन्होंने कहा कि उनके देश का उत्तरी कोरिया के साथ सामरिक धैर्य रखने का युग समाप्त हो गया है। पेंस उ. कोरिया के मिसाइल परीक्षण विफल होने के बाद रविवार को दक्षिण कोरिया पहुंचे थे। उत्तर कोरिया और अमरीका दोनों के बीच गर्म बयानबाजी के साथ ही कोरियाई प्रायद्वीप पर तनाव लगातार बढ़ रहा है।