भाजपा की सहयोगी एनपीएफ भी मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ

Daily news network Posted: 2017-06-15 13:46:36 IST Updated: 2017-06-15 13:46:36 IST
भाजपा की सहयोगी एनपीएफ भी मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ
  • नागालैण्ड और मणिपुर में भाजपा की सहयोगी नगा पीपुल्स फ्रंट(एनपीएफ) भी वध के लिए मवेशियों की खरीद और बिक्री पर लगी रोक लगाने के मोदी सरकार के फैसले का विरोध किया है।

कोहिमा। नागालैण्ड और मणिपुर में भाजपा की सहयोगी नगा पीपुल्स फ्रंट(एनपीएफ) भी वध के लिए मवेशियों की खरीद और बिक्री पर लगी रोक लगाने के मोदी सरकार के फैसले का विरोध किया है। एनपीएफ ने नागालैण्ड सरकार से अनुरोध किया है कि वह केन्द्र सरकार से आग्रह करे कि वह नगा लोगों की आहार संबंधी आदतों और पाकशाला से संबंधित प्राथमिकताओं पर प्रतिबंध लगाने से परहेज करें। कोहिमा में बुधवार को एनपीएफ की सेंट्रल एग्जिक्यूटिव काउंसिल की मीटिंग हुई। इसमें एनपीएफ ने नागालैण्ड सरकार से अनुरोध किया है कि वह केन्द्र सरकार के समक्ष लोगों की आहार संबंधी आदतों पर रोक का मसला उठाएं। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि एक तरफा फैसलों से नगा लोगों की पाकशाला संबंधी प्राथमिकताओं में बाधा नहीं डालें या नगा लोगों की सामाजिक,पारंपरिक और धार्मिक क्रियाकलापों में दखल न दें। ईसाई बहुल नागालैण्ड और मेघालय में अगले साल विधानसभा चुनाव है। 


केन्द्र सरकार ने अधिसूचना जारी कर वध के लिए मवेशियों की खरीद और बिक्री पर रोक लगा दी है। इस फैसले का दोनों राज्यों में विरोध हो रहा है। कांग्रेस सरकार इस मुद्दे को लेकर लगातार नागालैण्ड सरकार पर हमले कर रही है। नागालैण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा था, भाजपा सरकार ने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 की आड़ लेकर देशभर में वध के लिए मवेशियों की खरीद और बिक्री पर रोक लगा दी। यह उनके सांप्रदायिक और विभाजनकारी एजेंडे का खुल्लम खुल्ला प्रदर्शन है,जो नगा लोगों को स्वीकार नहीं है। उनके विभाजनकारी एजेंडे को कानूनी कवर देने के गंभीर प्रतिकूल प्रभाव होंगे। बढ़ती गो सतर्कता और बीफ खाने वालों के खिलाफ हिंसा से समाज में बड़ी दरार पैदा हो गई है,ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। कांग्रेस का कहना है कि एनपीएफ सरकार ने पिछले 15 साल से भाजपा को कंफर्ट मुहैया कराया है। इसे खारिज किया जाना चाहिए। पशुओं के खिलाफ क्रूरता रोकने के नाम पर वध के लिए मवेशियों की खरीद और बिक्री पर रोक लगा दी गई। यह इंसानों के साथ क्रूरता है।