एनपीपी ने की सीएम संगमा पर लगे आरोपों की जांच की मांग

Daily news network Posted: 2017-06-17 17:56:20 IST Updated: 2017-06-17 17:56:20 IST
एनपीपी ने की सीएम संगमा पर लगे आरोपों की जांच की मांग
  • राज्य के विपक्षी दल नेशनल पीपल्स पार्टी(एनपीपी) ने कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त सरकार के खिलाफ राजनीतिक हमले तेज कर दिए हैं। बर्नीहाट में रेल परियोजना को लेकर हो रहे विवाद प्रकरण को प्रदेश में विकास के लिए चिंता का विषय बताया गया।

शिलॉन्ग।

राज्य के विपक्षी दल नेशनल पीपल्स पार्टी(एनपीपी) ने कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त सरकार के खिलाफ राजनीतिक हमले तेज कर दिए हैं। बर्नीहाट में रेल परियोजना को लेकर हो रहे विवाद प्रकरण को प्रदेश में विकास के लिए चिंता का विषय बताया गया।



एनपीपी ने यहां जारी अपने एक बयान में कहा कि राज्य सरकार खासी छात्र संघ(केएसयू) व प्रतिबंधित विद्रोही संगठन एचएनएलसी के बीच गठजोड़ होने की जांच तो करने जा रही है, लेकिन सरकार ने उस मुद्दे को दरकिनार कर दिया है जो मुख्यमंत्री मुकुल संगमा से जुड़ा है।



बताते चलें कि हाल ही में स्थानीय दैनिक पत्रों में छपी खबर के मुताबिक एचएनएलसी ने यह दावा किया था कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए मुकुल संगमा शांति वार्ता के एवज में उससे मदद मांगी है।



एनपीपी का कहना है कि रेल परियोजना पर जारी विरोध पर केएसयू-एचएनएलसी के बीच गठजोड़ है या नहीं, इसकी जांच सरकार तो करने जा रही है फिर मुख्यमंत्री-एचएनएलसी कथित कांड की जांच क्यो नहीं कराई जा रही। 



जनता को सब जानने का अधिकार है। इन आरोपों से सरकार मुंह नहीं मोड़ सकती। मालूम हो कि एनपीपी के राजनीतिक मामलों की समिति ने उपरोक्त विषय बताया है।



इस मुद्दे पर गुरुवार को एनपीपी के राजनीतिक मामलों की समिति ने शिलॉन्ग शहर इकाई के अध्यक्ष डब्ल्यू खरमुजाइ की अध्यक्षता में पार्टी के महासचिव टी पोहशना, प्रमुख आयोजक एम खारपुरी, नेता व वरिष्ठ अधिवक्ता इरविन के सीमए सुतंगा से मुलाकात की है।