ओएनजीसी पर स्थानीय लोगों के हितों की अवहेलना का आरोप

Daily news network Posted: 2017-10-11 13:59:06 IST Updated: 2017-10-11 13:59:06 IST
ओएनजीसी पर स्थानीय लोगों के हितों की अवहेलना का आरोप
  • आक्रासू और मटक युवा छात्र सम्मेलन ने एक विज्ञप्ति जारी कर ओएनजीसी पर स्थानीय लोगों के हितों की अवहेलना का आरोप लगाया

शिवसागर।

आक्रासू के जिला अध्यक्ष मृणाल दत्त और मटक युवा छात्र सम्मेलन के महासचिव प्राणदीप मोहन ने एक संयुक्त विज्ञप्ति जारी कर ओएनजीसी पर स्थानीय लोगों के हितों की अवहेलना करके बाहरी प्रतिष्ठानों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया है।



इस प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि ओनजीसी द्वारा कोलकाता की वालमार लोरी नामक व्यक्तिगत कंपनी को निगम के अधिकारी और कर्मचारियों का विमान टिकट बनाने का ठेका प्रदान किया गया है, जिसके कारण कई स्थानीय व्यवसायी के हितों को नुकसान पहुंचा है और 57 व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में काम करने वाले कई स्थानीय लोग बेरोजगार हो गए हैं।



विज्ञप्ति में कहा गया है कि साल 2005 में भी इसी कोलकाता की कंपनी को ओएनजीसी द्वारा विमान बनाने का ठेका प्रदान किया गया था, लेकिन उस समय पर कंपनी द्वारा की गई वित्तीय अनियमितता के कारण तत्कालीन निगम अधिकारी पेक माथुर ने कंपनी के खिलाफ जांच करवाई थी और 12 साल के बाद फिर से कंपनी को निगम परिसर में अपना कार्यालय खोलकर कार्य करने देना आश्चर्य का विषय है।



विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि ठेका देने में भी ओएनजीसी द्वारा जटिल निविदा प्रक्रिया आयोजित की जाती है, जिससे बेरोजगार युवक- युवतियां इस ठेके से वंचित रह जाते हैं। संगठन ने मांग की है कि निगम स्थानीय लोगों के सुविधानुसार निविदा प्रक्रिया जारी करे, अन्यथा संगठन निगम के खिलाफ तीव्र आंदोलन करेगा।