'खुलेगा पूर्वोत्तर में पर्यटन की संभावनाओं का द्वार'

Daily news network Posted: 2017-12-06 15:16:46 IST Updated: 2017-12-06 15:16:46 IST
'खुलेगा पूर्वोत्तर में पर्यटन की संभावनाओं का द्वार'
  • राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आयोजित टूरिज्म मार्ट के आयोजन की सराहना करते हुए राज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी ने कहा है कि असम और पूर्वोत्तर के पर्यटन स्थलों को देश के लोगों के सामने रखने के लिए टूरिज्म मार्ट एक बढ़िया अवसर है।

गुवाहाटी।

राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आयोजित टूरिज्म मार्ट के आयोजन की सराहना करते हुए राज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी ने कहा है कि असम और पूर्वोत्तर के पर्यटन स्थलों को देश के लोगों के सामने रखने के लिए टूरिज्म मार्ट एक बढ़िया अवसर है।



मंगलवार को यहां के एक होटल में छठे अंतर्राष्ट्रीय टूरिज्म मार्ट का विधिवत शुरुआत करते हुए राज्यपाल मुखी ने कहा कि इस अनोखे प्रदेश और यहां के पर्यटन स्थलों की खूबसूरती को जो लोग देश-दुनिया के सामने रखने का प्रयास कर रहे हैं उनके लिए यह टूरिज्म मार्ट असीम संभावनाओं का द्वार खोलने का काम करेगा।

मालूम हो कि इस तीन दिवसीय मार्ट में 66 यात्रा संस्मरण लेखके और 29 देशों के पर्यटन विशेषज्ञ के अलावा पर्यटन से संबंधित वस्तुओं को खरीदने-बेचने वाले 100 से अधिक पेशेवर यहां पहुंचे हैं।


इस मौके पर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि टूरिज्म मार्ट पूर्वोत्तर के पर्यटन को गति देने का कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि असम की धरती सबसे बड़ी शक्तिपीठ कामाख्या और पोआ मक्का जैसा धार्मिक स्थल है, जो सद्भाव का संदेश देता है।


वहीं केंद्रीय पर्यटन केजे अल्फोंस ने कहा कि पूर्वोत्तर धरती पर सबसे खूबसूरत जगह है और उनका विभाग यहां के पर्यटन को ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए हर संभव मदद राज्य सरकार को करेगा।