Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

'अफगानिस्तान बॉर्डर पर केमिकल हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है पाकिस्तान'

Patrika news network Posted: 2017-03-04 15:22:28 IST Updated: 2017-03-04 15:22:28 IST
'अफगानिस्तान बॉर्डर पर केमिकल हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है पाकिस्तान'
  • पर्रिकर ने आशंका जताई है कि अफगानिस्तान से सटे इलाकों में पाकिस्तान केमिकल हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है। पर्रिकर ने कहा,अफगानिस्तान और उत्तरी हिस्सों से कई ऐसी रिपोर्ट आ रही है,जहां मैंने तस्वीरों में देखा कि स्थानीय लोग शरीर पर चकत्ते या किसी तरह के केमिकल हथियारों से प्रभावित नजर आते हैं।

नई दिल्ली।

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आशंका जताई है कि अफगानिस्तान से सटे इलाकों में पाकिस्तान केमिकल हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है। डीआरडीओ के एक कार्यक्रम में पर्रिकर ने कहा,अफगानिस्तान और उत्तरी हिस्सों से कई ऐसी रिपोर्ट आ रही है,जहां मैंने तस्वीरों में देखा कि स्थानीय लोग शरीर पर चकत्ते या किसी तरह के केमिकल हथियारों से प्रभावित नजर आते हैं।


तस्वीरें विचलित करने वाली थी। हालांकि पर्रिकर ने यह भी कहा कि वह इस वक्त इसकी पुष्टि नहीं करते लेकिन देश को किसी भी किस्म की जंग के लिए तैयार रहना चाहिए। देश पर परमाणु,केमिकल या जैविक हमले का खतरा हो या न हो लेकिन भविष्य में किसी भी आशंका से निपटने के लिए हम पूरी तरह तैयार है। कार्यक्रम में (रक्षा मंत्री ने सेना को डीआरडीओ की ओर से बनाए तीन प्रोडक्ट सौंपे। इनमें रक्षा वेपन लोकेटिंग रडार स्वाति,जो दुश्मन के हथियारों की मौजूदगी तलाश कर उन्हें तबाह करने के लिए गाइड करेगा। एनबीसी रेकी व्हिकल जो परमाणु,जैविक या रासायनिक हथियारों की मौजूदगी का पता लगाने वाला वाहन है,एनबीसी मेडिकल किट,जो परमाणु,जैविक या रासायनिक हथियारों के प्रभावों से बचाने वाली दवाएं है।



पर्रिकर ने आर्मी पेपर लीक मामले पर कहा कि इसकी आंतरिक जांच चल रही है। मंत्रालय ने सीबीआई जांच की सिफारिश भी की है। बता दें कि पिछले महीने पेशावर के नजदीक सूफी संत लाल शाहबाज कलंदर की दरगाह पर फिदायीन हमला हुआ था। इसमें 100 जायरीनों की मौत हो गई थी जबकि 250 लोग घायल हुए थे। हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी लेकिन पाकिस्तान ने कहा था कि हमले को अफगानिस्तान के जमात उल अहरार गुट ने अंजाम दिया है। दरगाह पर हुए फिदायीन हमले के बाद पाकिस्तान ने अफगानिस्तान से सटे इलाकों में आतंकियों के खिलाफ जबर्दस्त ऑपरेशन चलाया था। पाकिस्तान ने सैंकड़ों आतंकियों का खात्मा कर दिया था। पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को 76 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की सूची सौंपी और कहा कि इन्हें हमारे हवाले किया जाए।