अरुणाचल: भूस्खलन में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख का मुआवजा

Daily news network Posted: 2017-07-14 14:48:08 IST Updated: 2017-07-14 14:48:08 IST
अरुणाचल: भूस्खलन में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख का मुआवजा
  • मुआवजे की राशि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दी जाएगी। भारत सरकार के अंडर सेक्रेटरी पीके बाली ने यह जानकारी दी।

ईटानगर।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश के पापुम पारे जिले के लापटाप गांव में भारी भूस्खलन में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और गंभीर रुप से घायलों के लिए 50-50 हजार रुपए का मुआवजा मंजूर किया है। मुआवजे की राशि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दी जाएगी। भारत सरकार के अंडर सेक्रेटरी पीके बाली ने यह जानकारी दी।


11 जुलाई को लापटाप गांव में हुए भूस्खलन में एक ही परिवार के 14 लोग मारे गए थे। प्रधानमंत्री ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू से बात की और लापटाप में भूस्खलन में मारे गए लोगों के प्रति गहरा दुख प्रकट किया। मोदी ने शोकसंतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। प्रधानमंत्री ने पेमा खांडू से टेलीफोन पर हुई बातचीत के दौरान कहा कि मुश्किल घड़ी में देश अरुणाचल प्रदेश के साथ है। प्रधानमंत्री ने खांडू को भारत सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया।


प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय अरुणाचल प्रदेश की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है। पीएमओ ने प्रधानमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी को स्थिति पर नजर रखने का जिम्मा दिया है। प्रधानमंत्री ने प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान के परिमाण और राज्य सरकार की ओर से उठाए गए कदमों और राहत व बचाव अभियानों की स्थिति के बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री ने खांडू से मौजूदा स्थिति पर तुरंत रिपोर्ट मांगी। प्रधानमंत्री ने पेमा खांडू से बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया।


लगातार बारिश के कारण राज्य में भूस्खलन और बाढ़ के हालात उत्पन्न हो गए थे। इसमें कई लोगों की जानें चली गई। बाढ़ और भूस्खलन से राज्य में बड़े पैमाने पर तबाही हुई। कई जिलों और प्रशासनिक मुख्यालयों का शेष दुनिया से संपर्क टूट गया। अभी तक नुकसान के परिमाण का आंकलन नहीं हो पाया है। मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने प्रधानमंत्री को बताया कि मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए राज्य सरकार सभी कोशिशें कर रही है। प्रभावित इलाकों में राहत शिविर खोले गए हैं। आम लोगों को असुरक्षित इलाकों को खारी कर सरकार की

ओर से खोले गए राहत शिविरों में शरण लेने के लिए कड़ी एडवाइजरी जारी की है। खांडू ने पीएम को जानकारी दी कि पीडि़तों को नियमों के मुताबिक तुरंत मुआवजा दिया गया है।