माणिक सरकार के गढ़ में गरजी ड्रीम गर्ल हेमामालिनी,कहा-लेफ्ट के राज में गरीब और गरीब हुए

Daily news network Posted: 2018-02-13 17:35:05 IST Updated: 2018-02-13 17:35:05 IST
माणिक सरकार के गढ़ में गरजी ड्रीम गर्ल हेमामालिनी,कहा-लेफ्ट के राज में गरीब और गरीब हुए
  • भाजपा सांसद हेमामालिनी पार्टी के प्रचार के लिए सोमवार को त्रिपुरा पहुंची

अगरतला।

भाजपा सांसद हेमामालिनी पार्टी के प्रचार के लिए सोमवार को त्रिपुरा पहुंची। हेमामालिनी सीपीएम के नेतृत्व वाली लेफ्ट फ्रंट सरकार पर जमकर बरसी। उन्होंने एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि लेफ्ट के राज में गरीब और गरीब हो गए। भाजपा सांसद ने त्रिपुरा के लोगों से राज्य में बदलाव के लिए वोट करने की अपील की। आपको बता दें कि त्रिपुरा की 60 विधानसभा सीटों के लिए 18 फरवरी को वोट पड़ेंगे। 3 मार्च को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होंगे।


अभिनेत्री से राजनेता बनी हेमामालिनी ने धानपुर विधानसभा क्षेत्र में जनसभा को संबोधित किया। आपको बता दें कि धानपुर से ही मुख्यमंत्री माणिक सरकार चुनाव लड़ रहे हैं। वह 1998 से लगातार इस सीट से चुनाव जीतते आ रहे हैं। हेमामालिनी ने कहा, केन्द्र सरकार की गरीब हितेषी नीतियों का लाभ सिर्फ सत्तारुढ़ सीपीएम के कार्यकर्ताओं ने उठाया है। त्रिपुरा के लोगों की उपेक्षा की गई। उन्होंने लोगों से धानपुर सीट से चुनाव लड़ी रही भाजपा उम्मीदवार प्रतिमा भौमिक को वोट देने की अपील की।


मथुरा से भाजपा सांसद ने कहा, यहां आते वक्त मैंने कई रिहायशी इमारतें देखी और सोचा कि राज्य के लोग बहुत सुखी हैं। पूछताछ करने पर हकीकत पता चली कि इनमें से ज्यादातर इमारतें सीपीएम के नेताओं की है। हेमामालिनी ने धानपुर में मार्केट एरिया से कथालिया एचएस स्कूल ग्राउंस तक 3 किलोमीटर लंबा रोड शो किया।


आपको बता दें कि त्रिपुरा में भाजपा ने आईपीएफटी के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन किया है। भाजपा ने 51 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं जबकि आईपीएफटी ने 9 सीटों पर। राज्य में 25 साल से लेफ्ट फ्रंट का राज है। माणिक सरकार पिछले 20 साल से राज्य के मुख्यमंत्री हैं। उनकी छवि ईमानदार नेता की है। इस बार के विधानसभा चुनाव में सीपीएम के नेतृत्व वाले लेफ्ट फ्रंट का मुकाबला भाजपा से है। मुख्यमंत्री माणिक सरकार खुद यह बात कबूल कर चुके हैं। 2013 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 50 उम्मीदवार खड़े किए थे। इनमें से 49 की जमानत जब्त हो गई थी लेकिन 2017 में भाजपा मुख्य विपक्षी दल बन गई जब तृणमूल कांग्रेस के 6 और कांग्रेस का एक विधायक भाजपा में शामिल हो गया।


पिछले साल अगस्त में तृणमूल कांग्रेस के 6 विधायक भाजपा में शामिल हुए थे। कांग्रेस विधायक रतनलाल नाथ पिछले साल 22 दिसंबर को भाजपा में शामिल हुए थे। हालांकि जनवरी में विधानसभा अध्यक्ष ने एंटी डिफेक्शन लॉ के तहत उनको विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य करार दे दिया था। इस बार के विधानसभा चुनाव में भाजपा पूरा जोर लगा रही है। पार्टी के सभी बड़े नेता राज्य में प्रचार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं।