राष्ट्रपति चुनाव: असम के 124 विधायकों और 3 सांसदों ने वोट डाले

Daily news network Posted: 2017-07-18 10:51:40 IST Updated: 2017-07-18 10:51:40 IST
राष्ट्रपति चुनाव: असम के 124 विधायकों और 3 सांसदों ने वोट डाले
  • असम के कुल 124 विधायकों और 3 सांसदों ने राष्ट्रपति चुनाव में राज्य विधानसभा के सेंट्रल हॉल में मतदान किया

गुवाहाटी।

असम के कुल 124 विधायकों और 3 सांसदों ने राष्ट्रपति चुनाव में राज्य विधानसभा के सेंट्रल हॉल में मतदान किया। मतदान सुबह 10 बजे शुरू हुआ जो दोपहर 2 बजे समाप्त हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री व तिताबार से कांग्रेस विधायक तरुण गोगोई ने पार्टी विधायक कमल सिंह नार्जरी के साथ नई दिल्ली में मतदान किया।



ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(एआईयूडीएफ) के तीन सांसदों बदरुद्दीन अजमल, सिराजुद्दीन अजमल और राधेश्याम बिश्वास ने भी मतदान किया। विधानसभा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी मृगेन्द्र कुमार डेका ने बताया कि मतदान दोपहर 2 बजे समाप्त हुआ। बैलेट बॉक्स को सील कर स्ट्रॉन्ग रूम में रखा गया है। बैलेट बॉक्स को मंगलवार को नई दिल्ली भेजा जाएगा। सत्तारुढ़ भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन में असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट शामिल है।



गठबंधन ने एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के पक्ष में मतदान किया जबकि कांग्रेस और एआईयूडीएफ ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष की उम्मीदवार व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के पक्ष में वोट किया।  राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे 20 जुलाई को आएंगे। एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत तय मानी जा रही है। पिछले साल असम में विधानसभा चुनाव हुए थे। भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी। भाजपा ने असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ मिलकर सर्वानंद सोनोवाल के नेतृत्व में सरकार बनाई।



सिक्किम: दो को छोड़कर 30 विधानसभा सदस्यों ने किया मतदान 

राष्ट्रपति चुनाव में सिक्किम राज्य में 93.75 फीसद मतदान हुआ। 32 सदस्यीय विधानसभा में 30 सदस्यों ने मतदान में हिस्सा लिया। एक मंत्री व सत्ता दल एक सदस्य अस्वस्थता के चलते मतदान में हिस्सा नहीं ले सके। मतदान विधानसभा के विशेष कक्ष में हुआ। मुख्यमंत्री पवन चामलिंग, विधानसभा अध्यक्ष केएन राई सहित सत्तारूढ़ दल के 28 विधानसभा सदस्यों के अलावा विपक्ष के दो सदस्य कुंगा नीमा लेप्चा व सोनाम लामा ने मतदान किया। ग्रामीण प्रबंधन एवं विकास मंत्री एसबी सुबेदी व सत्ता दल के विधायक तिमोथी विलियम्स बसनेत मतदान में हिस्सा नहीं ले सके।


मेघालय के 8  विधायकों ने नहीं किया मतदान

उधर,  राष्ट्रपति चुनाव के लिए हुए मतदान में 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा के आठ विधायकों ने मत नहीं डाले। एक निर्वाचन अधिकारी ने यह जानकारी दी। कांग्रेस विधायक केनेडी खायरीम के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मंत्री मार्टिन एम. डांगो का चेन्नई में एक अस्पताल में उपचार चल रहा है, जिसके चलते वह मतदान में हिस्सा नहीं ले सके। वहीं पार्टी के संसदीय सचिव जस्टिन डखार बेंगलुरू में होने के कारण मत नहीं डाल सके। मुख्य निर्वाचन अधिकारी फ्रेडरिक रॉय खारकोंगोर ने बताया कि एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म के आरोप में शिलांग जेल में बंद निर्दलीय विधायक जूलियस किटबॉक डोरफैंग ने मतदान में हिस्सा लेने की इच्छा नहीं जताई थी। विपक्षी दल यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) के विधायक ब्रोलडिंग नोंगसीज ने राष्ट्रपति चुनाव से दूर रहने का फैसला किया था।