धुला घटना सोनोवाल सरकार की अमानवीयता का प्रमाणः विपक्ष

Daily news network Posted: 2018-01-11 14:00:14 IST Updated: 2018-01-11 17:21:50 IST
  • दरंग जिले के घुला में मंगलवार रात और बुधवार सुबह घटनाओं को लेकर विपक्षी दलों ने राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला है। प्रदेश कांग्रेस ने जहां राज्य सरकार पर नृशंस होने का आरोप लगया, वहीं एआईयूडीएफ ने सवाल उठाया कि लोकतांत्रिक ढंग से प्रदर्शन करने वालों पर गोलियां दागने का साहस पुलिस को कैसे मिल गया।

गुवाहाटी।

दरंग जिले के घुला में मंगलवार रात और बुधवार सुबह घटनाओं को लेकर विपक्षी दलों ने राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला है। प्रदेश कांग्रेस ने जहां राज्य सरकार पर नृशंस होने का आरोप लगया, वहीं एआईयूडीएफ ने सवाल उठाया कि लोकतांत्रिक ढंग से प्रदर्शन करने वालों पर गोलियां दागने का साहस पुलिस को कैसे मिल गया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा के मुताबिक धुला थाने में हिरारसत में मौजू एक मजदूर की रहस्यमय परिस्थिति में हुई मौत के विरोध में गए गए व्यक्ति की पुलिस की गोली से मृत्यु हो गई। कई अन्य लोग घायल हो गए। 

उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के समय राज्य मानवता की वध भूमि बन गया है। धुला घटना असम में मानवाधिकारों के हनन का एक अन्यतम उदाहरण है।