गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा,संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के पिता पर देश को नाज है

Daily news network Posted: 2017-03-09 13:13:48 IST Updated: 2017-10-18 12:32:22 IST
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा,संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के पिता पर देश को नाज है
  • मध्य प्रदेश में भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम विस्फोट के बाद 6 संदिग्ध आतंकियों की गिरफ्तारी और लखनऊ में संदिग्ध आतंकी से मुठभेड़ पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को संसद में बयान दिया।

नई दिल्ली।

मध्य प्रदेश में भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम विस्फोट के बाद 6 संदिग्ध आतंकियों की गिरफ्तारी और लखनऊ में संदिग्ध आतंकी से मुठभेड़ पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को संसद में बयान दिया। लखनऊ में एटीएस के साथ मुठभेड़ में मारे गए संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के पिता मोहम्मद सरताज को देश का गौरव बताते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि उनके प्रति पूरे सदन को सहानुभूति होनी चाहिए।



राजनाथ सिंह ने सदन को मुठभेड़,ट्रेन में बम विस्फोट और आतंकियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया कि यूपी पुलिस से मुलाकात में सैफुल्लाह के पिता ने कहा,जो देश का न हुआ वह मेरा क्या होगा। मुझे उसका मरा मुंह भी नहीं देखना है। हर किसी के लिए देश पहले है। अगर वह देश का नहीं हुआ तो मेरा क्या होगा। सैफुल्लाह के पिता ने अपने भटके हुए बेटे के प्र्ति यह बात कही है। उनके दुख में हमें सहानुभूति होनी चाहिए। पैसेंजर ट्रेन में धमाके के बाद एमपी पुलिस ने पिपरिया में ट्रैफिक चेकिंग के दौरान तीन संदिग्ध गिरफ्तार किए। केन्द्रीय एजेंसियों की मदद से आगे की जांच जारी है।



संदिग्धों से पूछताछ और अन्य जानकारियों के आधार पर यूपी पुलिस कानपुर,ओरैया और अन्य जगहों पर जांच कर रही है। कानपुर से गिरफ्तार किए गए दो संदिग्धों की सूचना के आधार पर लखनऊ एटीएस ने ठाकुरगंज इलाके के एक मकान की घेराबंदी की थी। 12 घंटे तक चली मुठभेड़ के दौरान एटीएस ने कई बार संदिग्ध को सरेंडर  के लिए कहा। इसके बाद वह कमरे में घुसी और आमने सामने हुई फायरिंग में सैफुल्लाह को सुरक्षाकर्मियों ने मार गिराया। सैफुल्लाह के पास से 8 पिस्टल,630 कारतूस,4 सिम कार्ड,1.5 लाख कैश और जेवरात बरामद हुए। एटीएस कानपुर यूनिट ने जाजमऊ से एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। अब तक कुल 6 गिरफ्तारियां हुई है। राज्यों की पुलिस और केन्द्रीय एजेंसियों के बीच बेहतरीन तालमेल का यह उदाहरण है। इस पूरे प्रकरण की जांच एनआईए से कराई जाएगी।