इन राज्यों में घुसपैठ के फिराक में हैं रोहिंग्या मुसलमानः खुफिया रिपोर्ट

Daily news network Posted: 2017-12-06 12:37:14 IST Updated: 2017-12-06 13:30:54 IST
इन राज्यों में घुसपैठ के फिराक में हैं रोहिंग्या मुसलमानः खुफिया रिपोर्ट
  • म्यांमार से निकाले गए रोहिंग्या मुसलमान गुवाहाटी और कोलकाता जैसे नज़दीक के बड़े शहरों में घुसपैठ करने के फिराक में हैं, ऐसी खबर खुफिया विभाग को मिली हैI खुफिया विभाग की माने तो बांग्लादेश व म्यांमार के अप्रवासी रोहिंग्या मुसलमान भारत में अवैध तरीक से घुसने की कोशिश कर रहे है।

गुवाहाटी।

म्यांमार से निकाले गए रोहिंग्या मुसलमान गुवाहाटी और कोलकाता जैसे नज़दीक के बड़े शहरों में घुसपैठ करने के फिराक में हैं, ऐसी खबर खुफिया विभाग को मिली हैI खुफिया विभाग की माने तो बांग्लादेश व म्यांमार के अप्रवासी रोहिंग्या मुसलमान भारत में अवैध तरीक से घुसने की कोशिश कर रहे है।



रोहिंग्या को भारतीय सीमा में घुसपैठ करवाने के लिए दलालों और एजेंटों का अच्छा-खासा नेटवर्क सक्रिय है। इस नेटवर्क में ऐसे दलाल काम कर रहे हैं जो भारत में पहले से बसे हुए हैं। कोलकाता और गुवाहाटी जैसे बड़े शहरों में रोहिंग्या को घुसपैठ करवाने के लिए यह दलाल नकली भारतीय पहचान-पत्रों के साथ ही अन्य दस्तावेजों की मदद ले रहे हैं।



बता दें कि जब से म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के ऊपर अत्याचार हुए है तब से ही वहां के लोग देश छोड़कर भारत व बांग्लादेश का रुख कर रहे हैं। भारत ने सुरक्षा कारणों की वजह से इन रोहिंग्या को मदद नहीं दी। वहीं अब लाखों की संख्या में रोहिंग्या मुस्लिम बांग्लादेश के शरणार्थी शिविरों में रहने को मजबूर है।



भारत को आशंका है कि रोहिंग्या मुस्लिमों के भारत में आ जाने से आंतकी गतिविधियां बढ़ सकती है। लेकिन पश्चिम बंगाल व अन्य राज्यों जो कि बांग्लादेश व म्यांमार की सीमा के पास है वहां से रोहिंग्या मुस्लिम गैर-तरीकों से भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश में लगे हुए है।



खुफिया एजेंसियों की माने तो गुवाहाटी और कोलकाता के अलावा भारत के केरल, कर्नाटक व तमिलनाडु जैसे राज्यों में भी रोहिंग्या के अवैध तरीके से घुसने की योजना सामने आई है।



गुरूवार को भारत के केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह भारत-बांग्लादेश सीमा से संबंधित मुद्दों पर चर्चा के लिए पश्चिम बंगाल सहित पूर्वी राज्यों के मुख्यमंत्रियों/गृह मंत्री से बैठक में मुलाकात करेंगे। माना जा रहा कि इस दौरान वे अवैध रूप से भारत में दाखिल हो रहे रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा बैठक में उठा सकते हैं। I