Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

टूटा शशिकला का तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने का सपना!, जाना होगा जेल

Patrika news network Posted: 2017-02-14 11:38:38 IST Updated: 2017-02-14 14:13:40 IST
टूटा शशिकला का तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने का सपना!, जाना होगा जेल
  • सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में AIADMK सुप्रीमो वीके शशिकला के खिलाफ हाई कोर्ट के फैसले को खारिज कर दिया है। यानी कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा है। ट्रायल कोर्ट ने शशिकला को दोषी करार दिया था।

नई दिल्ली।

सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में AIADMK सुप्रीमो वीके शशिकला के खिलाफ हाई कोर्ट के फैसले को खारिज कर दिया है। यानी कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा है। ट्रायल कोर्ट ने शशिकला को दोषी करार दिया था। 

इसी केस में कर्नाटक हाईकोर्ट ने शशिकला और जयललिता को 2015 में बरी कर दिया था। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के द्वारा हाई कोर्ट के फैसले को खारिज करने के बाद अब ये तय है कि शशिकला को जेल जाना होगा। उनका तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने का सपना टूट गया है। 

इससे पहले राज्य सरकार जयललिता, शशिकला और अन्य आरोपियों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। पिछले साल सुनवाई के बाद जून में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। इस दौरान जयललिता का निधन हो गया।

केस की सुनवाई कर रही बेंच में शामिल जस्टिस पीसी घोष और अमिताभ रॉय ने फैसला सुनाया। इस केस में जया, शशिकला और उनके दो रिश्तेदार वीएन सुधाकरन, इलावर्सी समेत 4 लोग शामिल हैं। इस मामले की सुनवाई तमिलनाडु के बाहर बेंगलुरु की स्पेशल कोर्ट में हुई। इस कोर्ट ने 27 सितंबर 2014 को जयललिता, शशिकला और दो अन्य बेहिसाब प्रॉपर्टी रखने के मामले में दोषी करार दिया। ट्रायल कोर्ट ने सभी को चार साल की सजा सुनाई गई। उन पर 100 करोड़ का जुर्माना भी लगाया गया। जयललिता-शशिकला 21 दिन जेल में रहीं। बाद में उन्हें सुप्रीम कोर्ट से बेल मिल गई थी। जया ने इस फैसले को कर्नाटक हाईकोर्ट में चैलेंज किया। हाईकोर्ट ने 11 मई 2015 को जया और शशिकला समेत सभी चार दोषियों को बरी कर दिया। हाईकोर्ट ने 1000 पेज का फैसला सुनाया था।

दरअसल, जयललिता पर 1991 से 1996 के बीच सीएम रहने के दौरान इनकम से ज्यादा 66 करोड़ की प्रॉपर्टी इकट्ठा करने का आरोप था। उन पर शशिकला के साथ मिलकर 32 ऐसी कंपनियां बनाने का आरोप था जिनका कोई बिजनेस ही नहीं था।

सजा हुई तो नहीं लड़ पाएंगी इलेक्शन

AIADMK सुप्रीमो शशिकला तमिलनाडु में सरकार बनाने की तैयारी हैं। इस बीच, सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला उनके लिए बेहद अहम होगा। बेहिसाब प्रॉपर्टी केस में अगर कोर्ट शशिकला को 2 साल या उससे ज्यादा की सजा सुनाता है तो उनका मुख्यमंत्री बनने का सपना टूट सकता है। शशिकला अभी असेंबली की मेंबर नहीं हैं। अगर वे मुख्यमंत्री बनीं तो उन्हें 6 महीने के भीतर विधायक बनना होगा। ऐसे हालात में सजा हुई तो वे कोई इलेक्शन नहीं लड़ पाएंगी।

6 नवंबर को जयललिता के निधन के बाद सीएम बने पन्नीरसेल्वम ने कुछ दिन पहले इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने भी फिर मुख्यमंत्री बनने का दावा किया है। शशिकला और पन्नीरसेल्व दोनों ही सरकार बनाने को लेकर तमिलनाडु के गवर्नर सी विद्यासागर राव से मुलाकात कर चुके हैं।