चेक से पेमेंट करने पर आपको होगा नुकसान, जानिए कैसे

Daily news network Posted: 2017-04-18 11:57:27 IST Updated: 2017-04-18 12:22:20 IST
चेक से पेमेंट करने पर आपको होगा नुकसान, जानिए कैसे
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की एक इकाई एसबीआई कार्ड ने पहली बार चेक से भुगतान करने पर चार्ज वसूलने का फैसला किया

मुंबई।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की एक इकाई एसबीआई कार्ड ने पहली बार चेक से भुगतान करने पर चार्ज वसूलने का फैसला किया है। कार्ड कंपनी ने हाल ही में ग्राहकों से कहा कि अब से 2 हजार रुपए से कम के चेक पेमेंट पर 100 रुपए का शुल्क देना होगा। 



एसबीआई कार्ड के एमडी और सीईओ विजय जसुजा ने बताया कि पेमेंट की तारीख नजदीक आने पर ड्रॉप बॉक्स में बड़ी संख्या में चेक डाले जा रहे हैं। इससे लेट पेमेंट चार्ज को लेकर विवाद होता रहा है। हमने गहन विश्लेषण किया है। ऐसे संभव नहीं है कि बैंक हर महीने चेक कलेक्शन में गलती करे। ऐसे विवाद निपटाने के लिए बैंक ने चेक पेमेंट का चलन खत्म करने की दिशा में कदम उठाया है। एसबीआई कार्ड देश की अकेली ऐसी संस्था है जो बैंक नहीं है और फाइनेंस कंपनी के रूप में पंजीकृत है। परिणामस्वरुप यह क्लियरिंग के लिए चेक कलेक्ट करने और डिपॉटिट करने पर चार्ज वसूलता है। जसूजा के मुताबिक, 92 प्रतिशत कार्डधारक अपने बिल चेक से नहीं भरते हैं। 


नया शुल्क वैसे एसबीआई खाताधारकों पर लागू नहीं होगा, जो काउंटरों पर जाकर चेक पेमेंट करते हैं, क्योंकि ऐसे मामलों में चेक को क्लियरिंग के लिए नहीं भेजा जाता, बल्कि इंटरबैंक ट्रांसफर के जरिए पेमेंट हो जाता है। हालांकि दूसरे बैंकों के चेक एसबीआई शाखाओं के काउंटरों पर जमा करने पर भी फी देना होगा। 



जसूजा ने कहा कि चेक से पेमेंट करने वाले कुल 8 प्रतिश लोगों में से 6 प्रतिशत के बिल दो हजार रुपए से ज्यादा होते हैं। ऐसे में 2 प्रतिशत लोगों को ही शुल्क देना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि कंपनी चेक पेमेंट का चलन कम कर रही है और ऑनलाइन पेमेंट वालों को ज्यादा से ज्यादा रिवॉर्ड पॉइंट्स दे रही है। एसबीआई काड्र्स के मुताबिक बिल पेमेंट्स के 14 तरीके हैं, लेकिन ज्यादातर के लिए मोबाइल या डेस्कटॉप इंटरनेट की जरूरत पड़ती है।