हिमंत का शिक्षा व्यवस्था में बड़े परिवर्तन का संकेत

Daily news network Posted: 2017-06-17 13:25:58 IST Updated: 2017-06-17 13:25:58 IST
हिमंत का शिक्षा व्यवस्था में बड़े परिवर्तन का संकेत
  • राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग में आमुल-चूल परिवर्तन का संकेत दिया है, जिसके तहत अगले साल से सीबीएसई की तरह मैट्रिक और हायर सेकेंडरी में टॉप करने वाले छात्रों की सूची जारी नहीं होगी।

गुवाहाटी।

राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग में आमुल-चूल परिवर्तन का संकेत दिया है, जिसके तहत अगले साल से सीबीएसई की तरह मैट्रिक और हायर सेकेंडरी में टॉप करने वाले छात्रों की सूची जारी नहीं होगी।



शुक्रवार को कलाक्षेत्र स्थित माधवदेव प्रेक्षागृह में भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा मैट्रिक और हायर सेकेंडरी की परीक्षा में स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा ने सम्मानित किया। 


इस मौके पर मुख्यमंत्री ने स्थान पाने वाले सभी 99 विद्यार्थियों को अपनी ओर से आठ हजार रुपए की एकमुश्त आर्थिक सहायता देने की घोषणा करते हुए इन मेधावी छात्रों से आह्वान किया कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम तथा पूर्वोतर के लिए जो सपना देखा है उसे पूरा करने में अपनी भूमिका निभाएं।



सोनोवाल ने इस सम्मान सरारोह के लिए मोर्चा की प्रशंसा करते हुए इन प्रतिभाशाली छात्रों को समाज का सितारा बनाया।

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने विद्यार्थियों को सम्मानित करते हुए आशा जताई कि य मेधावी छात्र भविष्य में भी अपना प्रदर्शन इसी तरह से जारी रखेंगे। 



उन्होंने शिक्षा व्यवस्था में सुधार की जरूरतों को इस मौके पर रखते हुए कहा कि विशेषज्ञ समितियों की सलाह से राज्य सरकार समय-समय पर शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए कदम उठाती रहेगी।