घर खरीदने के लिए निकाल सकेंगे पीएफ की 90 फीसदी रकम

Daily news network Posted: 2017-03-15 18:48:22 IST Updated: 2017-10-13 15:44:39 IST
घर खरीदने के लिए निकाल सकेंगे पीएफ की 90 फीसदी रकम
  • केन्द्र सरकार 4 करोड़ प्रोविडेंट फंड मेंबर्स को घर खरीदने के लिए 90 फीसदी तक की पीएफ राशि की निकासी के लिए नियम में संशोधन करेगी।

केन्द्र सरकार 4 करोड़ प्रोविडेंट फंड मेंबर्स को घर खरीदने के लिए 90 फीसदी तक की पीएफ राशि की निकासी के लिए नियम में संशोधन करेगी। इससे ईपीएफओ मेंबर्स को घर खरीदने के लिए डाउन पेमेंट करने में मदद मिलेगी। केन्द्र सरकार की ओर से बुधवार को संसद में यह जानकारी दी गई।


स्कीम में संशोधन के बाद कर्मचारी अपने ईपीएफ अकाउंट से ही होम लोन की ईएमआई भी चुका सकेंगे। ईपीएफओ की ओर से प्रस्तावित नए प्रावधानों के मुताबिक कम से कम 10 सबस्क्राइबर्स को मिलकर एक को-ऑपरेटिव सोसाइटी का गठन करना होगा तभी पीएफ अकाउंट से वे रकम निकाल सकेंगे। कर्मचारियों के लिए हाउसिंग स्कीम से जुड़े सवाल के जवाब में बंडारू दत्तात्रेय ने संसद में कहा,सरकार ने कर्मचारी प्रोविडेंट फंड स्कीम 1952 में संशोधन कर रही है। स्कीम में पैराग्राफ 68 बीडी जोड़ा जाएगा।

मंत्री ने बताया,नए प्रावधानों के मुताबिक अगर कोई सबस्क्राइबर किसी को-ऑपरेटिव सोसाइटी और हाउसिंग सोसाइटी का सदस्य होता है तो वह घर या फ्लैट खरीदने के लिए अपने खाते से 90 फीसदी तक की राशि निकाल सकेंगे। यही नहीं मकान के निर्माण के लिए भी रकम निकाली जा सकेगी। पिछले दिनों ही केन्द्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने पीएफ खाताधारकों को ऐसी सुविधाएं दिए जाने की बात कही थी। गौरतलब है कि ज्यादातर कर्मचारी अपना कामकाजी जीवन किराये के मकान में काट देते हैं। सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाली सारी राशि का इस्तेमाल वे घर खरीदने में करते हैं। फिलहाल ईपीएफओ के दायरे में आने वाले सबी कर्मचारियों को अपने मूल वेतन का 12 फीसदी भविष्य निधि में देना होता है। इसमें मूल वेतन के अलावा महंगाई भत्ता शामिल होता है।