अरुणाचल प्रदेश में विशेष बाघ संरक्षण बल की स्थापना!

Daily news network Posted: 2017-05-17 15:48:12 IST Updated: 2017-05-17 15:48:12 IST
अरुणाचल प्रदेश में विशेष बाघ संरक्षण बल की स्थापना!
  • अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने राज्य में विशेष बाघ संरक्षण बल (एसटीपीएफ) की स्थापना में तेजी लाने के लिए विशेष निर्देश जारी किए हैं।

इटानगर।

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने राज्य में विशेष बाघ संरक्षण बल (एसटीपीएफ) की स्थापना में तेजी लाने के लिए विशेष निर्देश जारी किए हैं।

उन्होंने कहा, 'एसटीपीएफ के पास एक नंबर होगा जिसमें कई रैंकों के 112 टीम होंगे और इन्हें बाघों की सुरक्षा के लिए 862 वर्ग किलोमीटर में तैनात किया जाएगा। इन्हें राज्य के पूर्व कामेंग जिले में पक्के टाइगर रिजर्व में तैनात किया जाएगा।'

पक्के रिजर्व में कई दुर्लभ और लुप्तप्राय वन्यजीव प्रजातियों रहते हैं। यहां तेंदुए, जंगली कुत्ते, हिमालयी काले भालू और हाथी आदि जानवर पाए जाते हैं। पर्यावरण और वन विभाग की समीक्षा बैठक में खांडू ने भी बाघों के लिए क्षेत्र संरक्षण के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि एसटीपीएफ की स्थापना के साथ ही जानवारों की सुरक्षा की जाएगी।

खांडू ने कहा कि इस कदम से बाघों के संरक्षण को सुनिश्चित करने के साथ-साथ बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने पर्यावरण और वन विभाग के अधिकारियों को भर्ती के दौरान स्थानीय जनजातीय युवाओं को प्राथमिकता देने के लिए कहा क्योंकि वे पर्यावरण और बड़ी बिल्लियों के निवास से परिचित हैं।

मुख्यमंत्री ने असम के जोरहाट में रेन वन रिसर्च इंस्टीट्यूट (आरएफआरआई) द्वारा मॉनिटरिंग की प्रगति की समीक्षा की।


 

खांडू ने कहा कि यह कदम वनीकरण, पर्यावरण संरक्षण और वन्यजीव संरक्षण के साथ राज्य योजना फंडों के सही तरह से उपयोग को सुनिश्चित करेगा।