चीन तो चीन अब म्यांमार पर भी भारत को दिखा रहा है आंख

Daily news network Posted: 2018-01-11 18:44:29 IST Updated: 2018-01-11 18:44:29 IST
चीन तो चीन अब म्यांमार पर भी भारत को दिखा रहा है आंख
  • चीन तो चीन अब म्यांमार भी भारत को आंख दिखा रहा है। मणिपुर के तेंगनोउपाल जिले में म्यांमार से लगती सीमा पर रविवार को उस वक्त कुछ तनाव उत्पन्न हो गया जब म्यांमार की आर्मी ने नो मैन्सलैंड में जमीन को समतल कर रही थी।

इंफाल।

चीन तो चीन अब म्यांमार भी भारत को आंख दिखा रहा है। मणिपुर के तेंगनोउपाल जिले में म्यांमार से लगती सीमा पर रविवार को उस वक्त कुछ तनाव उत्पन्न हो गया जब म्यांमार की आर्मी ने नो मैन्सलैंड में जमीन को समतल कर रही थी। तेंगनोउपाल के कलेक्टर के.रघुमानी, जिन्होंने पुलिस अधीक्षक एस.इम्बोचा के साथ इलाके का दौरा किया था,ने कहा कि अधिकारियों की टीम ने नो मैन्स लैंड पर अस्थायी गैर कानूनी निर्माण का निरीक्षण किया और इसके मालिकों को इन अवैध निर्माण को तोडऩे के लिए कहा।

आपको बता दें कि शनिवार को म्यांमार के अधिकारियों ने नो मैन्स लैंड में ग्राउंड की लेवलिंग शुरु कर दी थी। इम्बोचा ने कहा कि दोनों देशों को नो मैन्स लैंड पर अतिक्रमण नहीं करना चाहिए। पुलिस ने इसे रोक दिया। रघुमनी ने कहा कि लेवलिंग वक्र्स के बारे में म्यांमार की अथॉरिटी की ओर से जिला प्रशासन को कुछ नहीं बताया गया। उन्होंने स्पष्ट किया कि भारतीय भी नो मैन्स लैंड पर कुछ भी निर्माण नहीं कर सकते। अधिकारियों का कहना है कि क्लीयर कट बाउंड्री नहीं होने के चलते विवाद के कुछ उदाहरण हैं।

पिछले साल म्यांमार के अधिकारी और सैन्य कर्मी तेंगोउपाल जिले के होल्लेनफई गांव में घुस आए थे। उन्होंने आरा मशीन को तोड़ दिया था। उन्होंने यह दावा किया कि होल्लेनफई गांव म्यांमार में हैं। हालांकि प्रदर्शनकारी ग्रामीणों ने कहा कि यह भारतीय गांव लंबे समय से मणिपुर में है। लीगल बॉर्डर ट्रेड के लिए मोरेह कस्बे में कुछ निर्माणों को तब सस्पेंड कर दिया गया जब म्यांमार ने दावा किया कि इलाके म्यांमार में है। रघुमानी ने कहा कि नो मैन्स लैंड में ग्राउंड की लेवलिंग का मसला केन्द्र सरकार के संज्ञान में लाया जाएगा।