मोदी पर बरसी वृंदा करात, हीरे का मतलब बताया- अली बाबा आैर चालीस चोर

Daily news network Posted: 2018-02-12 11:18:06 IST Updated: 2018-02-12 15:36:45 IST
  • 18 फरवरी को होने वाले त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मियां तेज़ हो गई हैं। 9 फरवरी को माकपा नेता वृंदा करात ने जब भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए हीरे का वर्णन किया तो हजारों माकपा समर्थकों ने खुशी के साथ उनका समर्थन किया।

अगरतला।

18 फरवरी को होने वाले त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मियां तेज़ हो गई हैं। 9 फरवरी को माकपा नेता वृंदा करात ने जब भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए हीरे का वर्णन किया तो हजारों माकपा समर्थकों ने खुशी के साथ उनका समर्थन किया। 

आपको बता दें कि अभी हाल ही में पीएम मोदी त्रिपुरा दौरे पर थे। जहां उन्होंने माणिक सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि माणिक काे उतार फेंको आैर हीरे को पहनों। साथ ही उन्होंने हीरे का मतलब भी लोगों को समझाया था। मोदी के हीरे का मतलब हाई वे, आई वे, रोड्स और एयरवेज था।


लेकिन 9 फरवरी को माकपा नेता वृंदा करात ने कहा कि हीरे का मतलब वो है जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हो। जो चरमपंथी समूहों के साथ संबंध रखते हो आैर कांग्रेस के दलबदलू हो। हीरे का मतलब है 'अली बाबा आैर चालीस चोर'

 


गौरतलब है कि त्रिपुरा विधानसभा का चुनाव लड़ रहे 297 उम्मीदवारों में से 22 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। संवैधानिक सुधार की दिशा में काम कर रहे एक गैर सरकारी संगठन ने पिछले ही दिनों यह दावा किया था। गैर सरकारी संगठन त्रिपुरा इलेक्शन वॉच के द्वारा किए गए एक अध्ययन में बताया गया है कि 17 उम्मीदवारों के खिलाफ दंगा, हत्या, आपराधिक धमकी और बलात्कार के आरोप हैं।

इन 17 उम्मीदवारों में से नौ भाजपा, तीन कांग्रेस, दो आईपीएफटी, एक तृणमूल कांग्रेस और अन्य स्वतंत्र उम्मीदवार हैं। त्रिपुरा इलेक्शन वॉच के संयोजक बिस्वेंदु भट्टाचार्य ने बताया कि ये जानकारियां उम्मीदवारों द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान दिए गए हलफनामों में मौजूद है।