यूपी में मुख्यमंत्री पद के लिए राजनाथ सिंह समेत इन 5 नेताओं के नामों पर चर्चा

Daily news network Posted: 2017-03-11 11:45:43 IST Updated: 2017-03-11 11:45:43 IST
यूपी में मुख्यमंत्री पद के लिए राजनाथ सिंह समेत इन 5 नेताओं के नामों पर चर्चा
  • यूपी में भाजपा को मिले प्रचंड बहुमत के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर चर्चा तेज हो गई है। मुख्यमंत्री पद की दौड़ में भाजपा के पांच नेता शामिल हैं। इन सभी के नामों पर काफी लंबे समय से चर्चा चल रही है।

यूपी में भाजपा को मिले प्रचंड बहुमत के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर चर्चा तेज हो गई है। मुख्यमंत्री पद की दौड़ में भाजपा के पांच नेता शामिल हैं। इन सभी के नामों पर काफी लंबे समय से चर्चा चल रही है। जिन नेताओं को मुख्यमंत्री पद की रेस में आगे माना जा रहे हैं उनमें केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह,केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा,यूपी में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, लखनऊ के मेयर डॉ दिनेश शर्मा और फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ शामिल हैं। गौरतलब है कि यूपी में भाजपा ने मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया था। भाजपा महाराष्ट्र,हरियाणा,झारखण्ड,उत्तराखण्ड में भी ऐसा कर चुकी है।  

राजनाथ सिंह

अटल बिहारी वाजपेयी के संसदीय क्षेत्र लखनऊ से सांसद और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी कहे जाते हैं। संघ में भी उनकी अच्छी पकड़ है। उन्हें संगठन और सत्ता दोनों का अनुभव है। वे प्रदेश अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। ऐसा माना जा रहा है कि सवर्णों को ध्यान में रखते हुए भाजपा उन्हें मुख्यमंत्री बनाकर यूपी भेज सकती है।

डॉ दिनेश शर्मा

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और लखनऊ के मेयर डॉ दिनेश शर्मा केन्द्रीय मंत्री उमा भारती के करीबी माने जाते हैं। वे युवा मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके हैं। उन्हें भाजपा के सदस्यता अभियान का प्रमुख बनाया गया था,जिसके बाद भाजपा विश्व की सबसे ज्यादा सदस्यों वाली पार्टी बनी। 2014 के लोकसभा चुनाव में वे लखनऊ में राजनाथ सिंह के चुनाव संयोजक भी रह चुके हैं। साथ ही उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का करीबी माना जाता है। शर्मा का ससुराल गुजरात में है। साल 2006 में अटल बिहारी वाजपेयी ने भी अपना आखिरी भाषण दिनेश शर्मा को चुनाव जिताने के लिए दिया था।

योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ हिंदुत्व ब्रिगेड का नेतृत्व करते हैं। उन्हें भाजपा का फायर ब्रांड नेता

कहा जाता है। पहले वे पूर्वांचल तक ही सीमित थे लेकिन इस चुनाव से पहले पार्टी ने उनसे वेस्ट यूपी में भी जमकर प्रचार कराया। योगी का नाम काफी समय से मुख्मंत्री पद के लिए चर्चा में चल रहा था।

मनोज सिन्हा

केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी सीएम पद की रेस में है। पूर्वांचल क्षेत्र में वे एक जाना माना नाम है। वे इस क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं। मनोज सिन्हा को लेकर पिछले एक साल से चर्चाएं थी कि वे यूपी के मुख्यमंत्री हो सकते हैं। गाजीपुर से तीन बार सांसद रहे मनोज सिन्हा सिविल इंजीनियरिंग से एमटेक हैं। वह संगठन में 1989 से 1996 तक राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे। उन्हें गृह मंत्री राजनाथ सिंह का करीबी माना जाता है। पीएम मोदी बतौर रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा की तारीफ कर चुके हैं।

केशव प्रसाद मौर्य

केशव प्रसाद मौर्य ओबीसी से आते हैं। वे युवा चेहरों और संगठन के कामों में बैलेंस बनाकर चलने वाले मौर्य पीएम मोदी और अमित शाह के करीबी हैं। वह 2012 के विधानसभा चुनाव में चुने जाने के बाद 2014 का लोकसभा चुनाव फूलपुर से जीते। इसके बाद उन्हें यूपी में भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। मौर्य संघ के अलावा विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे संगठनों में भी काम कर चुके हैं। वे विहिप अध्यक्ष अशोक सिंघल के करीबी हुआ करते थे।