त्रिपुरा में मिले 150 ग्रेनेड,सेना के विशेषज्ञों ने डिफ्यूज किए

Daily news network Posted: 2017-05-20 15:07:28 IST Updated: 2017-05-20 15:07:28 IST
त्रिपुरा में मिले 150 ग्रेनेड,सेना के विशेषज्ञों ने डिफ्यूज किए
  • नॉर्दन त्रिपुरा के गौरनगर में जमीन के नीचे दबाकर रखे गए 150 ग्रेनेड्स को पुलिस ने पिछले सप्ताह बरामद किया था।

अगरतला।

त्रिपुरा में जमीन के नीचे दबे मिले 150 ग्रेनेड्स को डिफ्यूज कर दिया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक सेना के विशेषज्ञों ने ग्रेनेड्स को डिफ्यूज किया। नॉर्दन त्रिपुरा के गौरनगर में जमीन के नीचे दबाकर रखे गए 150 ग्रेनेड्स को पुलिस ने पिछले सप्ताह बरामद किया था। 



नॉर्दन त्रिपुरा के उनोकोटि जिले के पुलिस प्रमुख अजीत प्रताप सिंह ने पत्रकारों को बताया कि मसिमपुर में स्थित सेना के डिवीजनल हेडक्वार्टर से शुक्रवार को विशेषज्ञ आए और ग्रेनेड्स को डिफ्यूज किया। सिंह ने कहा कि गौरनगर में एक सेंट्रल स्कूल के नजदीक बच्चे खेल रहे थे। उन्होंने इन ग्रेनेड्स को देखा था। उन्होंने बड़े लोगों को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने पुलिस को अलर्ट किया। इसके बाद पुलिस इलाके में पहुंची और मिट्टी खोदने के बाद इन ग्रेनेड्स को बरामद किया। 




स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि ये ग्रेनेड्स 1971 की बांग्लादेश लिबरेशन वॉर के दौरान दबाकर रखे गए होंगे। इतिहासकार बी.चौधरी ने कहा कि त्रिपुरा में ट्रेनिंग के बाद राज्य के चार सेक्टरों में ऐसे 6 से 7 शिविर थे जहां से बांग्लादेशी फ्रीडम फाइटर्स ने पाकिस्तानी फोर्सेज से लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने बताया कि 16 लाख बांग्लादेशियों ने अकेले त्रिपुरा में शरण ली थी। यह संख्या त्रिपुरा की आबादी से भी ज्यादा थी। 9 माह चली लिबरेशन वॉर बाद में भारत-पाकिस्तान के बीच जंग में तब्दील हुई। 16 दिसंबर 1971 को करीब 93 हजार पाकिस्तानी सैनिकों ने ढाका में सरेंडर किया था।