गौहाटी हवाई अड्डाः ट्रॉली पोर्टरों की मजदूरी घोटाला, सालों से नहीं मिली फूटी कौड़ी

Daily news network Posted: 2017-11-15 14:58:10 IST Updated: 2017-11-15 14:58:10 IST
गौहाटी हवाई अड्डाः ट्रॉली पोर्टरों की मजदूरी घोटाला, सालों से नहीं मिली फूटी कौड़ी
  • समय पर यात्रियों को ट्रॉली मिल सके, इसके लिए सुबह से लेकर रात तक 20 ट्रॉली पोर्टर हवाई अड्डे पर लगातार काम पर लगे रहते हैं। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इनमें से किसी पोर्टर को भी वेतन या मजदूरी के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं मिलती है।

विजयनगर।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मदी जहां सरकारी कामकाज में पारदर्शिता लाकर प्रशासन को गतिशील व जनहित की योजनाओं को भ्रष्टाचारमुक्त बनाने के लिए गंभीरतापूर्वक कदम उठा रहे हैं, वहीं भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के अंतर्गत गुवाहाटी स्थित लोकप्रिय गोपीनाथ बरदलै अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अस्थाई श्रमिकों का शोषण व उनकी मजदूरी के पैसों को लेकर एक बड़ा घोटाला सामने आया है।

मालूम हो कि हवाई अड्डे पर यात्री ट्रॉली का उपयोग कर अपना सामान लाते-ले जाते हैं। समय पर यात्रियों को ट्रॉली मिल सके, इसके लिए सुबह से लेकर रात  तक 20 ट्रॉली पोर्टर हवाई अड्डे पर लगातार काम पर लगे रहते हैं। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इनमें से किसी पोर्टर को भी वेतन या मजदूरी के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं मिलती है। 

सिर्फ कुछ मेहरबान यात्री इन्हें चंद पैसे देते हैं, जिससे उनका गुजारा होता है। जबकि विभागीय तौर पर इन पोर्टरों को ठेकेदार के अंतर्गत नियुक्त किया जाता है व इनके नाम पर ठेकेदार को समुचित राशि दी जाती है।

लेकिन आरोप है कि नियमित पेमेंट मिलने के बावजूद हवाई अड्डे के संबद्ध अधिकारियों के साथ इसकी बंदरबांट कर ली जाती है। ट्रॉली पोर्टरों को फूटी कॉड़ी भी नसीब नहीं होती है।