मोदी की भाजपा ने त्रिपुरा में कर दिया बड़ा खेल

Daily news network Posted: 2018-01-12 18:09:03 IST Updated: 2018-01-12 18:09:03 IST
मोदी की भाजपा ने त्रिपुरा में कर दिया बड़ा खेल
  • त्रिपुरा में गुरुवार को भाजपा को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली जब स्टेट लोकजनशक्ति पार्टी(एलजेपी) की अध्यक्ष पापरी हल्दर और महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष विभा नाथ पार्टी में शामिल हो गई।

त्रिपुरा में गुरुवार को भाजपा को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली जब स्टेट लोकजनशक्ति पार्टी(एलजेपी) की अध्यक्ष पापरी हल्दर और महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष विभा नाथ पार्टी में शामिल हो गई। हल्दर ने भाजपा के राज्य मुख्यालय में पत्रकारों को बताया कि लोकजनशक्ति पार्टी के 4 हजार से ज्यादा कार्याकर्ता अगले कुछ दिनों में भाजपा में शामिल होंगे। आपको बता दें कि लोकजनशक्ति पार्टी बिहार में भाजपा की प्रमुख सहयोगी दल है और वह केन्द्र में नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस(एनडीए) की भी घटक है।

एलजेपी ने मणिपुर में भाजपा का समर्थन किया है। जब हल्दर से पूछा गया कि एलजेपी ने भाजपा में विलय की बजाय उससे गठबंधन क्यों नहीं किया तो उन्होंने कहा कि मैंने लोकजनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राम विलास पासवान से चर्चा के बाद भाजपा में शामिल होने का फैसला किया। त्रिपुरा में सत्तारुढ़ लेफ्ट फ्रंट के खिलाफ संयुक्त लड़ाई की अपील करते हुए उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि लेफ्ट के खिलाफ बिखरा हुआ संघर्ष काम नहीं करेग। हमें साथ आने की जरूरत है।

मैंने भाजपा में शामिल होने से पहले मामले पर पासवान जी से बात। रामविलास पासवान लेफ्ट फ्रंट सरकार के खिलाफ प्रचार के लिए त्रिपुरा आएंगे। नाथ जो पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता है ने कहा कि राज्य में महिलाओं के प्रोटेक्शन के लिए काम करने के वास्ते वह भाजपा में शामिल हुई है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के डेटा के मुताबिक त्रिपुरा उन राज्यों में शामिल है जहां महिलाओं के खिलाफ अपराध सबसे ज्यादा होते हैं। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष बिप्लब कुमार देब ने हल्दर और नाथ के पार्टी में शामिल होने का स्वागत करते हुए दावा किया कि उन्होंने लेफ्ट शासित राज्य में भाजपा की लहर देखी है।

इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा(आईपीएफटी) के भाजपा के साथ गठबंधन की इच्छा जाहिर करने पर देब ने कहा,लगातार सकारात्मक बातचीत चल रही है लेकिन गठबंधन पर फैसला भाजपा का केन्द्रीय नेतृत्व लेगा। आईपीएफटी के चीफ एन.सी.देबबर्मा ने बुधवार को घोषणा की थी कि उनकी पार्टी विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा के साथ गठबंधन करने की इच्छुक है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वे त्विप्रालैंड की कोर डिमांड पर समझौता नहीं कर सकते। आपको बता दें कि भाजपा इस पर राजी नहीं है। वह सिरे से अलग राज्य की मांग खारिज कर चुके है।