असम: पतंजलि हर्बल पार्क में जंगली हाथियों ने एक शख्स को मार डाला

Daily news network Posted: 2017-06-20 16:29:37 IST Updated: 2017-06-20 16:29:37 IST
असम: पतंजलि हर्बल पार्क में जंगली हाथियों ने एक शख्स को मार डाला
  • जंगली हाथियों के एक झुण्ड ने सोमवार को रंगापाड़ा में एक व्यक्ति को मार डाला। जंगली हाथी पतंजलि मेगा हर्बल फूड पार्क में घुस गए थे।

गुवाहाटी। जंगली हाथियों के एक झुण्ड ने सोमवार को रंगापाड़ा में एक व्यक्ति को मार डाला। जंगली हाथी पतंजलि मेगा हर्बल फूड पार्क में घुस गए थे। ये पार्क असम इंडस्ट्रियल डवलपमेंट कॉरपोरेशन कॉम्प्लेक्स के नजदीक स्थित है। बाउंड्री वॉल को तोड़कर हाथी पार्क में घुसे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। पार्क सोनितपुर जिले के घोरामारी में स्थित है। हाथियों का झुण्ड अक्सर रंगापाड़ा के सोनई रुपई अभ्यारण्य से बाहर आ जाता है। हाथियों के झुण्ड ने सेसा टी एस्टेट के 18 नंबर डिवीजन में 50 साल के विमसेन मुंडा को मार डाला। उन्होंने अस्थायी घरों को भी तबाह कर दिया। 


पिछले तीन दिनों में इस तरह की यह दूसरी घटना है। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को धेंदई टी एस्टेट में 45 वर्षीय अर्सोलता कर्माकर नाम की महिला को कुचल दिया था। वेस्ट सोनितपुर डिवीजन के असिस्टेंट फॉरेस्ट कंजरवेटर जसिम अहमद ने कहा कि वन विभाग के अधिकारियों ने पतंजलि पार्क का दौरा किया था,जहां जंगली जानवरों ने दीवार तोड़ दी। यह मूवमेंट का रेगुलर पाथ है। अहमद ने कहा कि हर्बल पार्क अथॉरिटी को बाउंड्री वॉल के साथ सोलर फेंसिंग लगाने को कहा गया था। पार्क में विशाल हाथियों के प्रवेश को रोकने के लिए आयरन पोस्ट्स लगाने को कहा गया था। साथ ही उन्हें इलाके की 24 घंटे सुरक्षा के लिए सुरक्षा कर्मी तैनात करने को कहा गया था। 


सूत्रों के मुताबिक जंगली हाथियों और अन्य जंगली जानवरों के लिए लगाया गया सोलर पावर्ड फेंस सिस्टम हाई वोल्टेज प्रोड्यूस करता है। यह प्राणघातक नहीं है। यह एक्टिव डिटरेंट के रूप में काम करता है। यह इंसानी बसावट के लिए विश्वसनीय सुरक्षा प्रणाली है। वन विभाग के मुताबिक पतंजलि पार्क ऐसा स्थान है जहां हाथी नजदीकी इलाकों से खाने और आराम की तलाश में आते हैं। पिछले साल 6 नवंबर को असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने योग गुरु बाबा रामदेव और पतंजलि आयुर्वेद के  अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में 1300 करोड़ के फीड पार्क की आधारशिला रखी थी। कुछ दिन बाद 23 नवंबर को तीन जंगली हाथी प्रोजेक्ट साइट पर गड्ढे में गिर गए। इस घटना में एक हथिनी और उसके बच्चे की मौत हो गई थी। घटना के बाद फोरेस्ट डिपार्टमेंट ने पतंजलि मेगा हर्बल फूड पार्क के खिलाफ केस दायर किया है। 


अहमद ने बताया कि मामले की सुनवाई तेजपुर कोर्ट में जारी है। पार्क के समन्वयक उदय गोस्वामी ने बताया कि वहां सोलर फेसिंग हैं। दिन में यह बंद रहती थी क्योंकि इस दौरान हाथियों के बाहर आने और बाउंड्री वॉल को तोडऩे की उम्मीद नहीं की जाती है। एनिमल प्रोटेक्शन एनजीओ अरण्य सुरक्षा समिति के सदस्य दिलीप नाथ और राइनो हॉर्न वेरिफिकेशन समिति ने कहा कि पार्क एरिया एलिफेंट जोन के रुप में जाना जाता था। यहां नजदीकी जंगली इलाके से जंगली रेवड़ अक्सर आता रहता है।