लिजित्सु के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं कर सकते जेलियांग

Daily news network Posted: 2017-07-17 18:26:59 IST Updated: 2017-07-17 18:26:59 IST
लिजित्सु के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं कर सकते जेलियांग
  • नागालैण्ड सरकार के प्रवक्ता और राज्य एससीईआरटी और स्कूल शिक्षा मंत्री यिताचु का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग राज्य के मुख्यमंत्री एस.लिजित्सु के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं कर सकते।

कोहिमा। नागालैण्ड में राजनीतिक संकट जारी है। इस बीच नागालैण्ड सरकार के प्रवक्ता और राज्य एससीईआरटी और स्कूल शिक्षा मंत्री यिताचु का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग राज्य के मुख्यमंत्री एस.लिजित्सु के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं कर सकते। यिताचु ने कहा, टीआर जेलियांग अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं कर सकते हैं क्योंकि वह उस पार्टी से संबंध रखते हैं जिसके अध्यक्ष मुख्यमंत्री लिजित्सु हैं। अत: संवैधानिक और कानूनी रूप से लिजित्सु के पास अभी भी सदन में बहुमत है। एनपीएफ के पास 60 सदस्यीय विधानसभा में 47 सदस्य हैं। यिताचु ने कहा अविश्वास प्रस्ताव एनपीएफ के विधायक उस स्थिति में पेश कर सकते हैं जब उन्होंने पार्टी व्हिप के खिलाफ वोट किया हो और वे अयोग्य घोषित किए जाने का सामना कर रहे हों। 


बकौल यिताचु, इस वक्त मुख्यमंत्री होने के नाते लिजित्सु सदन के नेता हैं, इसलिए मुख्यमंत्री पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं है। यह विधान विपक्ष के नेतृत्व वाली सरकार के समय से है। यिताचु ने कहा, मौजूदा मसला पूरी तरह से एनपीएफ पार्टी की आंतरिक समस्या है, इसलिए इसका हल पार्टी में ही हो सकता है। अब इसे राज्यपाल और स्पीकर ऑफिस तक खींच कर ले जाया गया। लिजित्सु और टीआर जेलियांग एनपीएफ के सदस्य हैं। दोनों के बीच मतभेदों का फैसला पहले पार्टी फोरम में होना चाहिए। यिताचु ने याद दिलाया कि लिजित्सु ने मजबूरी में मुख्यमंत्री का पद ग्रहण किया था। उन्होंने कहा कि लोग विकास,शांति और प्रगति चाहते हैं। यिताचु ने नेताओं से कहा है कि वे लोगों की इच्छाओं के खिलाफ ना जाएं और मेल मिलाप के जरिए मतभेदों को पार्टी फोरम में सैटल करें। लोगों ने डीएएन गठबंधन को जो जनादेश दिया है वह संवैधानिक दायित्व है, हमें इसे आगे ले जाना चाहिए।