आशीष नेहरा ने वीरेन्द्र सहवाग को लेकर किए चौंकाने वाले खुलासे

Daily news network Posted: 2017-02-17 13:14:13 IST Updated: 2017-11-21 13:22:09 IST
आशीष नेहरा ने वीरेन्द्र सहवाग को लेकर किए चौंकाने वाले खुलासे
  • तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने पूर्व क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग के बारे में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में 37 वर्षीय नेहरा ने सहवाग से जुड़ी कई दिलचस्प बातें बताई है।

नई दिल्ली।

तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने पूर्व क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग के बारे में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में 37 वर्षीय नेहरा ने सहवाग से जुड़ी कई दिलचस्प बातें बताई है।

नेहरा ने उन दिनों को याद किया जब वे और सहवाग एक साथ फिरोजशाह कोटला मैदान पर प्रैक्टिस करने जाते थे। नेहरा के मुताबिक मेरी और सहवाग की दोस्ती बहुत पुरानी है। हमने 1997-98 में खेलना शुरू किया था। हम दोनों एक साथ फिरोजशाह कोटला मैदान पर प्रैक्टिस करते थे। उस वक्त सहवाग नजफगढ़ से आते थे। बकौल नेहरा,मैं सुबह जल्दी उठने वाले लोगों में से नहीं हूं। सहवाग सबसे पहले मेरे घर आते और मुझे जगाते। उठने के बाद तैयार होने में मुझे कुछ वक्त लग जाता।

जब तक सहवाग मेरे पिताजी के साथ बातें करते। उस समय हमारी उम्र 17-18 साल रही होगी। नेहरा ने बताया,मुझे दूध पीना बिल्कुल पसंद नहीं था जबकि सहवाग को दूध बहुत पंद था। वो मेरा इंतजार करते मेरे लिए रखा हुआ आधा लीटर दूध पी जाते थे। वो जब नजफगढ़ से निकलते तो आधा लीटर पीकर निकलते थे और मेरे घर आकर भी आधा लीटर दूध पी जाते। यानि मैदान पहुंचने तक एक लीटर दूध पी चुके होते थे और मैं मैदान पर पहुंचकर फ्राइड नाश्ता करता था।

नेहरा अपने हिस्से का दूध सहवाग को यूं ही नहीं पीने देते थे,इसके लिए दोनों के बीच खास डील हुई थी। बकौल नेहरा,मैंने सहवाग से दूध पीने को लेकर एक डील की थी। मैंने वीरू से कहा,तुम मेरे लिए रखा दूध पी लो,कोई दिक्कत नहीं लेकिन कोटला तक स्कूटर तुम्हें ड्राइव करना पड़ेगा। उस वक्त मेरा किट बैग छोटा था जबकि बल्लेबाज होने की वजह से सहवाग का किट बैग बड़ा था। सहवाग ड्राइविंग करते और मैं पीछे बैठकर उनके किट बैग पर सिर रखकर अपनी नींद पूरी करता था लेकिन वापस आते वक्त मुझे ही स्कूटर चलाना पड़ता था।

नेहरा सोशल मीडिया पर एक्टिव नहीं है इसलिए उन्हें सहवाग के ट्वीट्स के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता। सहवाग ने ही नेहरा को नेहरा जी नाम दिया है। नेहरा ने कहा,मुझे नहीं पता होता कि वे मेरे लिए क्या पोस्ट करते हैं लेकिन जब मैं लोगों से सुनता हूं तो मुझे काफी मजा आता है। मैं जानता हूं कि उनकी पोस्ट और हिंदी कमेंट्री बहुत मशहूर है। ट्विटर की बात छोडि़ए,मैं तो ई-मेल्स तक नहीं भेजता। जब घर पर कभी चार्टर्ड अकाउंटेंट्स और वकील आते हैं तो मैं उनसे मिलता तक नहीं। मैं अपनी पत्नी से ही उन्हें डील करने का कहता हूं।