असमः आपस में ही भिड़ गए हरियाणा के बॉक्सर

Daily news network Posted: 2017-07-13 15:46:51 IST Updated: 2017-07-13 15:46:51 IST
असमः आपस में ही भिड़ गए हरियाणा के बॉक्सर
  • हरियाणा में बॉक्सिंग एसोसिएशन पर अधिकार जमाने के लिए चल रही लड़ाई रिंग तक पहुंच गई है। बुधवार को असम -गुवाहाटी में प्रथम जूनियर लड़कों की बॉक्सिंग चैंपियनशिप का आगाज हुआ है।

गुरुग्राम।

हरियाणा में बॉक्सिंग एसोसिएशन पर अधिकार जमाने के लिए चल रही लड़ाई रिंग तक पहुंच गई है। बुधवार को असम -गुवाहाटी में प्रथम जूनियर लड़कों की बॉक्सिंग चैंपियनशिप का आगाज हुआ है।



इसमें भाग लेने हरियाणा से दो अलग-अलग टीमें पहुंच गई। दोनों ही एसोसिएशन के पदाधिकारी अपनी टीम उतारने पर उतारू रहे। बाद में एक ही एसोसिएशन के बॉक्सर को रिंग में उतरने का मौका दिया गया।



12 से 17 जुलाई तक खेली जाने वाली चैंपियनशिप में सभी प्रदेशों से उन एसोसिएशन की टीमों को शामिल किया गया है जिनकी भारतीय बॉक्सिंग फेडरेशन (बीएफआइ)से मान्यता है।



दरअसल बीएफआइ से हरियाणा बॉक्सिंग एसोसिएशन मान्यता है जिसके अध्यक्ष अभय चौटाला व महासचिव राकेश ठाकरान हैं, लेकिन दूसरी टीम प्रदेश भाजपा सरकार के एक मंत्री समर्थित अश्वनी शर्मा लेकर पहुंच गए। शर्मा ने अपने बॉक्सर शामिल करने पर अड़ गए। शर्मा का कहना है कि उनके बॉक्सर खेलने का हक रखते हैं, लेकिन राकेश ने नहीं खेलने दिया।



वर्षों से बीएफआइ से मान्यता हमारी एसोसिएशन है और हर बार टीम हम भेजते हैं। यह जो हो रहा है यह राजनीतिक कारणों से हो रहा है। असम में हमारी टीम खेल रही है।

राकेश ठाकरान, महासचिव हरियाणा बॉक्सिंग एसोसिएशन



हरियाणा से दो टीमें आने के बाद हमने बीएफआइ के महासचिव जय कवली से जानकारी ली थी। उनका कहना है कि बीएफआइ की सदस्य चौटाला वाली एसोसिएशन है, तो हमने उन्हीं के बाक्सर टीम को शामिल किया है।

नरेंद्र, उपाध्यक्ष बीएफआइ व चैंपियनशिप चेयरमैन