घाना से हार के साथ भारत का विश्वकप सफर समाप्त

Daily news network Posted: 2017-10-13 10:04:08 IST Updated: 2017-10-13 10:04:08 IST
घाना से हार के साथ भारत का विश्वकप सफर समाप्त

नई दिल्ली।

मेजबान भारत का पहली बार फीफा अंडर-17 विश्वकप फुटबाल टूर्नामेंट में खेलने का ऐतिहासिक सफर गुरूवार को यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में अफ्रीकी टीम घाना के हाथों 0-4 की हार के साथ समाप्त हो गया। भारत ने विश्वकप के ग्रुप ए में अपने तीनों मुकाबले हारे। उसे पहले मैच में अमरीका से 0-3 से और दूसरे मैच में कोलंबिया के हाथों 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने कोलंबिया के खिलाफ जिस तरह का सराहनीय संघर्ष किया था उसे देखते हुए उम्मीद थी कि वह घाना के खिलाफ वैसा ही प्रदर्शन करेगा, लेकिन घाना के मजबूत कद काठी के खिलाड़ी गति और कौशल में भारतीय खिलाडिय़ों पर 21 पड़े।


मैच का लब्बोलुबाव यह रहा कि खेल के पूरे समय के दौरान गेंद लगभग 75 मिनट भारतीय पाले में रही। शुरूआती 10 मिनट छोड़ दिये जाये भारतीय टीम घाना के खिलाफ कहीं पर भी चुनौती देने लायक हालत में नहीं थी। अंतिम सीटी बजते ही घाना ने यह मैच 4-0 के बड़े अंतर से जीत लिया। उधर नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में कोलंबिया ने इसी ग्रुप ए में अमेरिका की मजबूत टीम को 3-1 से चौंकाकर शानदार जीत अपने नाम की। घाना और कोलंबिया को नॉकआउट दौर में पहुंचने के लिये अपने यह मुकाबले हर हाल में जीतने थे और दोनों ही टीमों ने बड़े अंतर से जीत हासिल की।


जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में लगभग 45 से 50 हजार दर्शकों की मौजूदगी में भारतीय टीम से जिस चमत्कार की उम्मीद थी वह देखने को नहीं मिल पाया। घाना ने पहले हाफ में एक गोल और दूसरे हाफ में तीन गोल दागकर भारतीय समर्थकों का जोश ठंडा कर दिया। मैच के समाप्त होने पर घाना के खिलाड़यिों ने अपनी परंपरागत डांस शैली में जहां जीत का जश्न मनाया वहीं भारतीय खिलाडिय़ों तथा कोच लुईस नार्टन डी मातोस ने दर्शकों का अभिवादन कर उनके समर्थन का धन्यवाद किया। घाना के लिये उसके कप्तान एरिक आइया ने 43वें और 52वें मिनट में गोल किये। घाना का तीसरा गोल रिचर्ड डांसो ने 86वें और चौथा गोल एमानुएल टोकू ने 87वें मिनट में किया।


घाना की टीम इस जीत के बाद छह अंकों के साथ ग्रुप ए की तालिका में शीर्ष स्थान पर रही। कोलंबिया को छह अंकों के साथ दूसरा स्थान मिला जबकि पहले दो मैच जीतने वाली अमेरिका की टीम ग्रुप में तीसरे स्थान पर फिसल गयी। घाना और कोलंबिया ने ग्रुप में शीर्ष दो स्थानों पर रहते हुये नॉकआउट दौर के लिये क्वालीफाई कर लिया है जबकि अमेरिका को अब इस बात का इंतजार करना होगा कि वह ग्रुप में तीसरे स्थान की चार सर्वश्रेष्ठ टीमों में जगह बना पाती है या नहीं। यदि अमेरिका को तीसरे स्थान की चार सर्वश्रेष्ठ टीमों में जगह मिलती है तो वह नॉकआउट दौर में चली जाएगी।


मैच की शुरूआत के छठे ही मिनट में घाना के कप्तान एरिक ने भारतीय गोल दे दिया था लेकिन वह ऑफ साइड निकले और गोल अमान्य करार दे दिया गया। भारत को आठवें मिनट से 35वें गज से और 15वें मिनट में बाक्स के बाहर से दो बार फ्री किक मिली। लेकिन भारतीय खिलाडिय़ों के शॉट में इतनी जान नहीं थी कि वे घाना को कोई नुकसान पहुंचा पाते। मैच के 22वें मिनट में घाना के राशिद अल हसन का शॉट पोस्ट के ऊपर से निकल गया जबकि 28वें मिनट में इसाक गयाम्फी का शॉट भी पोस्ट के कुछ ऊपर से निकल गया।


भारत के बोरिस थामजंग को 34वें मिनट में खतरनाक खेल के लिये येलो कार्ड दिखाया गया जिसके बाद घाना को भारतीय बाक्स के ठीक बाहर फ्री किक मिली जिसपर कप्तान एरिक का शॉट पोस्ट के काफी ऊपर से निकल गया। मैच के 43वें मिनट में घाना ने पहला गोल करने में कामयाबी हासिल कर ली। सादिक इब्राहिम का दायीं ओर से क्रॉस गोलकीपर धीरज के हाथों से लगकर छिटक गया और एरिक ने पलक झपकते ही शॉट जमाकर घाना का पहला गोल कर दिया। घाना पहले हाफ तक एक गोल से आगे था।

दूसरा हाफ शुरू होने के कुछ समय बाद ही 52वें मिनट में एरिक ने भारतीय डिफेंस की चूक का फायदा उठाते हुये घाना का दूसरा गोल कर दिया। मैच में घाना का दबदबा चलता रहा और भारतीय खिलाड़ी घाना के पाले में पहुंचने के लिये संघर्ष करते रहे। घाना के कोच ने 82वें मिनट में अपने कप्तान को बाहर बुला लिया। भारत ने 81वें मिनट और उसके कुछ देर बाद दो शॉट घाना के गोल पर लिये लेकिन घाना के गोलकीपर ने आसानी से दोनों शॉट को रोक लिया।


मैच के 86वें मिनट में रिचर्ड डांसो ने एक लंबी गेंद संभाली और तेजी से आगे बढ़ते हुये धीरज को छका कर टीम का तीसरा गोल कर दिया। अगले ही मिनट में घाना के एक स्ट्राइकर का शॉट भारतीय पोस्ट से टकराया और रिबाउंड पर मिली गेंद पर टोकू ने चौथा गोल करने में कोई गलती नहीं की। घाना 4-0 की जीत के साथ तालिका में चोटी पर पहुंचने के साथ नॉकआउट दौर में पहुंच गया।