बड़े पर्दे पर दिखेगी आइजोल एफसी की ऐतिहासिक जीत की कहानी

Daily news network Posted: 2017-07-11 16:01:24 IST Updated: 2017-07-11 16:01:24 IST
बड़े पर्दे पर दिखेगी आइजोल एफसी की ऐतिहासिक जीत की कहानी
  • फुटबॉल पर केंद्रित कई फिल्में बनीं हैं। दर्शकों को रोमांचित करती कई नई कहानियों बनाई गई। लेकिन एक टीम है जिसके चैंपियन बनने की कहानी किसी भी फिल्मी पटकथा से बेहतर लगती है।

आइजोल।

फुटबॉल पर केंद्रित कई फिल्में बनीं हैं। दर्शकों को रोमांचित करती कई नई कहानियों बनाई गई। लेकिन एक टीम है जिसके चैंपियन बनने की कहानी किसी भी फिल्मी पटकथा से बेहतर लगती है।



फुटबॉल का एक बड़ा टूर्नामेंट होता है जिसके लिए एक टीम बनती है। इस टीम के बारे में कोई जानता नहीं। नई टीम, खिलाड़ियों ने मुश्किल हालातों से जूझकर खुद को तैयार किया है। 



साथ ही इन्हें कोई बाहरी मदद नहीं, यहां तक की बूट और ड्रेस के लिए उन्हें स्पॉन्सर भी नहीं मिलता। पर टीम में एक खास बात है और वो हैं टीम के कोच जिनका मकदस टीम को नई ऊंचाईयों पर ले जाना है।



इस टीम में सिर्फ वो खिलाड़ी है, जो सोते-जागते सिर्फ भारत के लिए खेलने का ख्वाब देखता है। उसकी हर सांसें, धड़कनें फुटबॉल के किक पर धड़कती है। टीम के पास एक मौका आता है। 



भले ही मौका दूसरे दर्जे का था लेकिन ख्वाब बड़े थे टीम को शानदार जीत मिलती है पहला सपना पूरा होता है लेकिन मंजिल अभी दूर है। टीम फर्स्ट डिवीज़न में खेलने के लिए तैयार होती है। पहले साल ही बाकी टीमों को पछाड़ते हुए किसी तरह क्वालीफाई कर लेती है। लेकिन दूसरा साल मानो इनके जोश इनके सपने इनके हौसलों को सामने खुद नतमस्तक दिखता है और सभी बड़ी टीमों को पछाड़ते हुए टीम नया इतिहास रचती है।


अब तक जो कुछ भी हुआ ये हकीकत है और इसी हकीकत को अब बड़े पर्दे पर देख पाएंगे। ये कहानी है नॉर्थ इस्ट की फुटबॉल टीम आइजोल फुटबॉल क्लब की जिसने 2017 में आईलीग का खिताब जीतकर एक नया इतिहास रचा था। 



टीम को इस मुकाम तक पहुंचाने में सबसे बड़ा योगदान था टीम के कोच खालिद जमील का। जोश और बुलंद हौसले की इस कहानी को सिल्वर स्क्रीन तक पहुंचाएंगे राजनंदिनी एंटरटेनमेंट प्रोडक्शन हाउस के मालिक और बॉलीवुड फिल्म प्रोड्यूसर तरुण राठी।



इस बात की पुष्टि खुद क्लब ने किया है। अफवाह थी कि फिल्म का टाइटल "जीरो टू हीरो" है और कोच खालिद जमील का रोल अजय देवगन निभा सकते हैं।  सूत्रों की मानें तो तरुण राठी का कहना है कि ये फिल्म में बड़े सितारों से सजी होंगी और इस छोटे क्लब की संघर्ष से लेकर जीत का सफर दुनिया को दिखाएंगे ताकि इन्हें सही पहचान मिल सके। 



क्लब के मालिक रोबर्ट रोयते ने कहा है कि इस फिल्म से सिर्फ मिजोरम और नार्थ ईस्ट के लोगों को ही प्रेरणा नहीं मिलेंगे बल्कि हर खिलाड़ी खुद को इससे जुड़ा हुआ पाएगा। साथ ही हमारे क्लब को भी दुनिया भर में पहचान मिलेगी।



हालांकि फिल्म कब तक परवान चढ़ती है और तब तक दर्शक इस फिल्म को देख पाएंगे इस बात का खुलासा किसी ने नहीं किया है।