इस बार असम के इंडोल मंदिर में दिखेगी दुर्गा पूजा की अलग ही झलक

Daily news network Posted: 2017-09-16 11:23:10 IST Updated: 2017-09-16 11:23:10 IST
इस बार असम के इंडोल मंदिर में दिखेगी दुर्गा पूजा की अलग ही झलक
  • दुर्गा पूजा को लेकर पूरे पूर्वोत्तर में तैयारियां जोरो शोरो से चल रही है जिसकी एक झलक असम के डुमरा में भी देखने को मिल रही है.

असम

दुर्गा पूजा को लेकर पूरे पूर्वोत्तर में तैयारियां जोरो शोरो से चल रही है जिसकी एक झलक असम के डुमरा में भी देखने को मिल रही है. जिला मुख्यालय डुमरा के विश्वनाथपुर चौक पर होने वाली दुर्गापूजा की तैयारी जोर-शोर से हो रही है। 


इसके लिए पंडाल का निर्माण का काम शुरू है। नेहाल दुर्गापूजा समिति की ओर से वर्ष 1996 से यहां भव्य रूप में दुर्गापूजा का आयोजन किया जा रहा है। इस बार पूजा पंडाल असम के इंडोल मंदिर की तर्ज पर बनाया जा रहा है। 70 फीट उंचे इस पंडाल को आकर्षक लाइटों से सजाया जाएगा। इसके लिए अभी से तैयारी की जा रही है। दरभंगा के मूर्तिकार पलेश्वर पंड़ित द्वारा मूर्तियां बनाई जा रही है। 




नेहाल दुर्गापूजा समिति की ओर से वर्ष 1996 में पहली बार लड्डू राय द्वारा 40 हजार की लागत से मां दुर्गा एवं अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियां बनवाई गई। इसमें त्रिलोकी प्रसाद यादव, प्रमोद राय, हरिचंद राय, छोटे लाल राय एवं स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से पूजा शुरू की गई थी। पूजा समिति के अध्यक्ष अरुण कुमार गोप, सचिव मनोज राय, उपाध्यक्ष गौरी यादव एवं कोषाध्यक्ष अर¨वद कुमार हैं।


इसके साथ ही हर बार दुर्गा पूजा में बनारस के पंडित करते हैं महाआरती,  बनारस के पांच पंडितों द्वारा हर दिन संध्या महाआरती की जाती है। वहीं, पूजा पंडित शंभूनाथ झा एक पुजारी के सहयोग से पूरी कराते हैं। कलश स्थापना के दिन 201 कुंवारी कन्याओं द्वारा कलश शोभा यात्रा निकाली जाती है। उसके बाद बेल न्योतन के लिए षष्टी के दिन भी कलश शोभा यात्रा निकाली जाती है।


पूजा समिति के अध्यक्ष अरुण कुमार गोप के अनुसार, इस बार पंडाल निर्माण एवं इसके साज-सज्जा, लाइट एंड साउंड की जिम्मेवारी दुर्गा डेकोरेटर्स को दिया गया है। इस पर करीब साढ़े चार लाख रुपये खर्ज करने का बजट बनाया गया है। इसके अलावा अन्य मदों पर भी आवश्यकतानुसार राशि खर्च की जाएगी। शांतिपूर्ण पूजा संचालन के लिए समिति के सदस्यगण तत्पर हैं इसके साथ ही इलाके की पुलिस भी किसी भी स्थिति के लिए सतर्क है।