देखना है धरती पर स्वर्ग तो जाइये सिक्किम की इन 10 जगहों पर

Daily news network Posted: 2017-09-16 18:35:43 IST Updated: 2017-09-16 18:35:43 IST
देखना है धरती पर स्वर्ग तो जाइये सिक्किम की इन 10 जगहों पर
  • प्राकृतिक खूबसूरती किसे पसंद नहीं होती, ऊंची ऊंची पहाड़ियां, गहरे झरने, नदियाँ और बर्फ देखकर किसी का भी दिल मोहित हो जाये तो चलिए आज हम आपको भगवान के खास और खूबसूरत गिफ्ट की सैर पर आपको ले चलते हैं

प्राकृतिक खूबसूरती किसे पसंद नहीं होती, ऊंची ऊंची पहाड़ियां, गहरे झरने, नदियाँ और बर्फ देखकर किसी का भी दिल मोहित हो जाये तो चलिए आज हम आपको भगवान के खास और खूबसूरत गिफ्ट की सैर पर आपको ले चलते हैं जहां आपको एक ही जगह सब चीजे मिल जाएँगी। 

तो अगर आप भी सिक्किम की यात्रा का मन बना रहे हैं या हाल फिल्हाल में अपने परिवार या दोस्तों के साथ घूमने की योजना बना रहे हैं तो उससे पहले हमारे आज के आर्टिकल को जरूर पढ़े और जाने कि आप सिक्कम में क्या क्या देख सकते हैं। तो देर किस बात की आइए जाने सिक्किम कुछ खास जगहों के बारें

समिति लेक- अगर आपको ट्रेकिंग करने का शौक है तो आप को गोएचा ला पास के करीब स्थित समिति लेक जरूर जाना चाहिए। चारों ओर पहाड़ों से घिरी ये झील आप को एक अनोखा एहसास देगी। 

कूपुक- समुद्र तल से 13066 फीट की ऊंचाई पर स्थित कूपुक झील हमेशा जमी रहती है। इसे आप फ्रोजन लेक भी कह सकते हैं। यहां का तापमान कभी-कभी शून्‍य से काफी नीचे हो जाता है। सर्दियों में यहां घूमना आप को तरोताजा कर देगा। 

युमथांग वैली- सिक्किम में स्थित युमथांग वैली को वैली ऑफ फ्लावर्स भी कहा जाता है। फूलों की इस घाटी में सैकड़ो प्रजाति के फूल देखने को मिलते हैं। ये घाटी सिक्किम के नॉर्थन डिस्ट्रिक में है। सर्दियों के मौसम में भारी बर्फबारी के चलते ये जगह बंद हो जाती है। 

जीरो प्‍वाइंट- अगर आप को बर्फ में खेलने का शौक है और आप सिक्किम में हैं तो आप को जीरो प्‍वाइंट जरूर जाना चाहिए। ये जगह बर्फ के दिवानों के लिए जन्‍नत से कम नहीं है। युमथांग वैली से ये जगह सिर्फ 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 

लाचुंग- सिक्किम की नॉर्थन डिस्ट्रिक में लाचुंग नाम का एक खूबसूरत सा गांव है। लाचुंग का मतलब होता है स्‍मॉल पास। ये गांव लाचेन और लाचुंग नदी के किनारे बसा हुआ है। नदी के किनारे बसे होने से इस गांव की खूबसूरती कई गुना बड़ जाती है। 

जॉरेथांग- जॉरेथांग सिक्किम के साउथ डिस्ट्रिक में रंगीत नदी के किनारे बसा हुआ है। यहां से आप को पीलिंग, दार्जीलिंग और कलीमपोंग के लिए आसानी से साधान मिल जाएगा। यहां नदियों के किनारे बसे हुए गांव और खेतों की खूबसूरती आप का मन मोह लेगी। 

रवांगला- सिक्किम में साउथ डिस्ट्रिक में स्थित रवांगला एक छोटा सा गांव है। ये गांव पीलिंग और गंगटोक से जुड़ा हुआ है। सर्दियों के मौसम में अगर आप रवांगला आते हैं तो आपको यहां आसानी से बर्फबारी देखने को मिल जाएगी। यहां का टेमी टी गार्डन और रालांग मॉनेस्‍ट्री यहां काफी प्रसिद्ध जगहें हैं। 

पीलिंग- आप को पहाड़ो के पीछे छुपते सूरज और सुबह वहां से उगते हुए सूरज को देखने का शौक है तो पीलिंग में आपकी ये ख्‍वाहिश पूरी हो सकती है। सिक्किम के वेस्‍ट डिस्ट्रिक में बसा हुआ पीलिंग चारो ओर पहाड़ों से घिरा हुआ है। यहां का सन राइस और सन सेट देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। 

खीचापर्ली झील- आप को सिक्किम में ढेरों झीलें मिलेंगी पर खीचापर्ली झील इसमें सबसे अलग और बहुत खूबसूरत है। पीलिंग से 34 किलोमीटर की दूरी पर स्थित खीचापर्ली लेक धरती पर स्‍वर्ग है। इसे फुलफिलिंग लेक भी कहा जाता है। कहते हैं इस झील में मांगी गई हर दुआ पूरी होती है। 

युकसोम- युकसोम सिक्किम की वेस्‍ट डिस्ट्रिक में स्थित एक खूबसूरत सी जगह है। युकसोम सिक्किम की पहली राजधानी भी रह चुकी है। यहां पर डबडी मॉनेस्‍ट्री है जो युकसोम से एक घंटे की दूरी पर स्थित है। जब भी आप सिक्किम घूमने जाएं तो युकसोम जाना ना भूलें। ये जगह धरती पर जन्‍नत से कम नहीं है।