Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

UP की कमान योगी के हाथ, आज लेंगे CM पद की शपथ; मोदी-शाह सहित कई मुख्यमंत्री रहेंगे मौजूद

Patrika news network Posted: 2017-03-18 18:43:53 IST Updated: 2017-03-19 11:26:38 IST
UP की कमान योगी के हाथ, आज लेंगे CM पद की शपथ; मोदी-शाह सहित कई मुख्यमंत्री रहेंगे मौजूद
  • उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन बनेगा इसका फैसला शनिवार शाम बीजेपी विधायक दल की बैठक में लिया गया। उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री बीजेपी के फायर ब्रांड योगी आदित्यनाथ होंगे।

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन बनेगा इसका फैसला शनिवार शाम बीजेपी विधायक दल की बैठक में लिया गया। उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री बीजेपी के फायर ब्रांड योगी आदित्यनाथ होंगे। 



उत्तर प्रदेश सीएम पद को लेकर चल रही कयासबाजी को अब विराम लग गया है। प्रदेश मुख्यमंत्री की कुर्सी आखिरकार किसे मिलेगी इसकी घोषणा हो गई है।



बता दें कि इस रेस में केशव प्रसाद मौर्य, मनोज सिन्हा जैसे कुछ नामों को लेकर अनुमान तो लगाया जा रहा था, लेकिन एक संभावना यह भी जताई जा रही थी कि BJP यहां किसी भी चेहरे को CM बना सकती है।



योगी आदित्य नाथ रविवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। मुख्यमंत्री का नाम तय करने में सबसे बड़ी भूमिका अमित शाह और PM नरेंद्र मोदी की रही।



BJP की संसदीय बोर्ड ने UP और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री का चुनाव करने की जिम्मेदारी शाह को सौंपी थी। प्रदेश पार्टी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य भी दावेदार माने जा रहे थे। वहीं संगठन के साथ काफी लंबे समय से जुड़े केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा को भी CM पद की दौड़ में मजबूत नाम माना जा रहा था।



कौन हैं योगी?

उत्तराखण्ड के गढ़वाल में 5 जून 1972 को जन्मे योगी गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर के महन्त हैं। वे 2014 लोक सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गोरखपुर से लोक सभा सांसद चुने गए। वे 1998 से लगातार इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। वह हिन्दू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं, जो कि हिन्दू युवाओं का सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी समूह है।



योगी आदित्यनाथ का वास्तविक नाम अजय सिंह है। आदित्यनाथ बारहवीं लोक सभा (1998-99) के सबसे युवा सांसद थे। उस समय उनकी उम्र महज 26 वर्ष थी। उन्होंने गढ़वाल विश्विद्यालय से गणित से बी.एस.सी किया है। उन्होंने धर्मांतरण (जैसे निम्न वर्ग हिंदुओं को ईसाई बनाना) गौ वध रोकने की दिशा में सार्थक कार्य किए हैं। वे गोरखपुर से लगातार 5 बार से सांसद हैं।