न्यूड सीन नहीं करना चाहती थी असम की ये एक्ट्रेस

Daily news network Posted: 2018-01-14 19:42:15 IST Updated: 2018-01-14 19:42:15 IST
  • भारतीय सिनेमा को 'बैंडिट क्वीन' दमदार फिल्म देने वाली सीमा बिस्वास का 53वां जन्मदिन है । 14 जनवरी 1965 को सीमा बिस्वास का जन्म असम के नालबाड़ी में हुआ था, और आज हम आपको सीमा बिस्वास के जीवन से जुड़े कुछ अहम् पहलू और घटनाओ से रूबरू करवाने जा रहे हैं

भारतीय सिनेमा को 'बैंडिट क्वीन' दमदार फिल्म देने वाली सीमा बिस्वास का 53वां जन्मदिन है । 14 जनवरी 1965 को सीमा बिस्वास का जन्म असम के नालबाड़ी में हुआ था,  और आज हम आपको सीमा बिस्वास के जीवन से जुड़े कुछ अहम् पहलू और घटनाओ से रूबरू करवाने जा रहे हैं


सीमा ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अपनी पढ़ाई पूरी की थी। वो कभी भी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थीं। उन्होंने सोचा था कि पढ़ाई पूरी करने के बाद वो लॉ करेंगी। सीमा के पिता ने बड़ी मुश्किल से उन्हें NSD भेजा था क्योंकि परिवार की माली हालत अच्छी नहीं थी,  बैंडिट क्वीन के निर्देशक शेखर कपूर को सीमा का अनप्रोफेशनल पोर्टफोलियो पसंद आया था।


जिसके बाद उन्होंने सीमा को बैंडिट क्वीन के लिए चुना। और यहीं से शुरू हुआ उनका बैंडिट क्वीन का सफर 1994 में सीमा पहली बार फिल्म 'बैंडिट क्वीन' से दुनिया के सामने आईं। इस फिल्म में सीमा ने इतनी बेहतरीन एक्टिंग की थी कि आज तक उनके किरदार को कोई नहीं भूल पाया। आज भी लोग उन्हें फूलन देवी के नाम से जानते हैं। इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से भी नवाजा गया था।


इसके साथ ही सीमा ने यह भी खुलासा किया कि इस सीन को शूट करते समय डायरेक्टर और कैमरामैन के अलावा किसी का भी अंदर आना मना था. इस न्यूड सीन के कारण उन्हें रात-रात भर रोना पड़ा था.