असम का यह टारजन नहीं पहनता है कपड़े, जानिए वजह

Daily news network Posted: 2017-11-08 19:49:17 IST Updated: 2017-11-08 19:49:17 IST
असम का यह टारजन नहीं पहनता है कपड़े, जानिए वजह
  • असम के वेस्ट किरबी अंगलांग जिले के एक पहाड़ी गांव में एक टारजन रहता है। वो सामान्य जिंदगी गुजारता है। लेकिन लोग उसे सामान्य इसलिए नहीं मानते क्योंकि उसे कपड़ों से सख्त परहेज है। चाहे जो हो जाए लेकिन कपड़े नहीं पहनने।

गुवाहाटी।

असम के वेस्ट किरबी अंगलांग जिले के एक पहाड़ी गांव में एक टारजन रहता है। वो सामान्य जिंदगी गुजारता है। लेकिन लोग उसे सामान्य इसलिए नहीं मानते क्योंकि उसे कपड़ों से सख्त परहेज है। चाहे जो हो जाए लेकिन कपड़े नहीं पहनने।


ऐसा नहीं कि लोगों ने कोशिश नहीं की कि टारजन गांव में कपड़े पहनकर आए लेकिन उसको ये मंजूर नहीं। बरसों से ऐसी सारी कोशिश नाकाम होती रही है। उसकी उम्र तीस के पार है। पूरा गांव ही उसे टारजन कहता है, हालांकि उसका एक नाम ओंग बे है।


ओंग बे आंगलांग जिले के छोटे से पहाड़ी गांव डेरा आरलोक में रहता है। लेकिन गांव की बस्ती से दूर पहाड़ के करीब बने एक बड़ी सी झोपड़ी में। जहां वह आरामदायक जीवन गुजारता है। वह सामान्य लोगों से ज्यादा लंबा और हट्टा-कट्टा है।


गांव के लोग बताते हैं कि टारजन में दूसरे लोगों की तुलना में कहीं ज्यादा ताकत है। लेकिन वह शांतिप्रिय है। लोगों के साथ उठता बैठता है। उसके अपने खेत हैं। जहां वह खेती करता है। फसल उगाता है। अपने बाल बच्चों का पेट पालता है। वैसे उसके कपड़ा नहीं पहनने की सनक के चलते लोग उन्हें दिमागी तौर कुछ असंतुलित मानते हैं लेकिन जो भी उससे बात करता है, उसे लगता नहीं कि वह कहीं से ऐसा है।


टारजन गांव में लोगों से मिलता जुलता है और उसकी इच्छा वहां शादी बारात और समारोहों में जाने की भी होती है लेकिन उसके सामने एक ऐसी शर्त रख दी जाती है कि वह मनमसोस कर रह जाता है और उधर रुख ही नहीं करता। ये शर्त होती है कपड़ा पहनकर आने की।