नॉर्थ ईस्ट की 41 लड़कियां बनी कमांडो, बेस्ट कमांडो बनी दिल्ली पुलिस की पोस्टर गर्ल

Daily news network Posted: 2017-08-09 19:51:15 IST Updated: 2017-08-09 19:51:15 IST
नॉर्थ ईस्ट की 41 लड़कियां बनी कमांडो, बेस्ट कमांडो बनी दिल्ली पुलिस की पोस्टर गर्ल
  • 'स्पेशल 41' उत्तरी पूर्वी राज्यों की लड़कियों का वो दस्ता है जो पहली बार दिल्ली पुलिस का हिस्सा बन स्पेशल कमांडो ट्रेनिंग ले रहा है। ये लड़कियां 15 अगस्त पर दिल्ली की सुरक्षा के लिए तैयार हैं। खास बात ये है कि इन्हीं कमांडो में से बेस्ट कमांडों को दिल्ली पुलिस ने अपनी पोस्टर गर्ल भी चुना है।

नई दिल्ली।

'स्पेशल 41' उत्तरी पूर्वी राज्यों की लड़कियों का वो दस्ता है जो पहली बार दिल्ली पुलिस का हिस्सा बन स्पेशल कमांडो ट्रेनिंग ले रहा है। ये लड़कियां 15 अगस्त पर दिल्ली की सुरक्षा के लिए तैयार हैं। खास बात ये है कि इन्हीं कमांडो में से बेस्ट कमांडों को दिल्ली पुलिस ने अपनी पोस्टर गर्ल भी चुना है।



नागालैंड की रहने वाली सी थेले ने कभी सोचा भी नहीं था कि वो दिल्ली पुलिस का हिस्सा बनेंगी, अपने घर से हज़ारों मील दूर थेले न सिर्फ दिल्ली पुलिस में भर्ती हुई बल्कि उन्होंने अपनी सामान्य ट्रेनिंग के बाद खुद को विशेष कमांडों ट्रेनिंग के लिए तैयार किया। ट्रेनिंग के दौरान करतब करना उनके बाएं हाथ का खेल है, कभी वो अच्छी तीरंदाज थीं तो आज अच्छी शूटर बन गई हैं।



4 महीने की कड़ी ट्रेनिंग के बाद उन्हें न सिर्फ बेस्ट कमांडो चुना गया बल्कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें अपनी पोस्टर गर्ल भी चुना है। पारंपरिक तस्वीरों की बजाय दिल्ली पुलिस के पोस्टरों में अब सी थेले की तस्वीर होगी। थेले का कहना है कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उनकी तस्वीर टीवी और अखवारों में आएगी।



पोस्टर गर्ल थेले के साथ उत्तर पूर्वी राज्यों की 40 और लड़कियां विशेष कमांडो की कड़ी ट्रेनिंग से गुज़र रही हैं। कल तक इन लड़कियों के लिए दिल्ली आना एक सपना था, लेकिन आज ये उनकी हकीकत है। दिल्ली पुलिस के पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में ये मर्दानी वो हर जोखिम उठा रही हैं जो इन्हें एक विशेष कमांडो बनाता है।



किसी खतरे की स्थिति में ऊंची इमारत से उतरना हो या चढ़ना, इसमें इन्हें महारथ हो चुकी है। कमांडो कविता और सुराजमाली ने बताया कि ये ट्रेनिंग बेहद कठिन है लेकिन हम इसे अच्छी तरह से कर रहे हैं और अब जब हम कमांडों बन गए हैं तो हमें अलग ही खुशी मिल रही है।