अरुणाचल की अंशु ने चौथी बार माउंट एवरेस्ट फतह कर रचा इतिहास

Daily news network Posted: 2017-05-17 11:25:52 IST Updated: 2017-05-17 11:31:50 IST
अरुणाचल की अंशु ने चौथी बार माउंट एवरेस्ट फतह कर रचा इतिहास
  • यह भारत के लिए गौरव का क्षण है। अंशु जामपसेनपा ने मंगलवार को चौथी बार माउंट एवरेस्ट को फतह कर इतिहास रच दिया है।

इटानगर। यह भारत के लिए गौरव का क्षण है। अंशु जामपसेनपा ने मंगलवार को चौथी बार माउंट एवरेस्ट को फतह कर इतिहास रच दिया है। वह पहली भारतीय महिला है जिसने चार बार माउंट एवरेस्ट को फतह किया है। अंशु दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर दोहरी चढ़ाई की कोशिश करेंगी। इसके साथ वह पांच बार एवरेस्ट फतह करने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लेगी। 32 साल की जामसेनपा दो बच्चों की मां हैं। 

ड्रीम हिमालय एडवेंचर के एमडी डी.एस.लामा ने कहा कि अंशु ने नेपाल की फुरी शेरपा के साथ दुनिया की सबसे ऊंची चोटी को सफलतापूर्वक फतह किया। अंशु ने 13 मई को तड़के 1.45 बजे अपनी चढ़ाई शुरू की थी और मंगलवार सुबह 9 बजे उन्होंने एवरेस्ट पर पहुंचकर राष्ट्र ध्वज फहराया। अंशु के पीआर मैनेजर नंदा किराती दीवान ने बताया कि अंशु एवरेस्ट की चोटी पर सुबह 9 बजे पहुंची। उन्हें 2 अप्रेल को दलाई लामा ने हरी झंडी दिखाकर गुवाहाटी से रवाना किया था। अगर वह अपनी चोहरी चढ़ाई में सफल हो जाती है तो अंशु पांच बार एवरेस्ट को फतह करने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लेंगी। 

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने इस साल 2 अप्रेल को असम के गुवाहाटी में जामसेनपा को हरी झंडी दिखाकर एवरेस्ट की दोहरी चढ़ाई के लिए रवाना किया था। जामसेनपा ने मई 2011 में दो बार माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी। उन्होंने सिर्फ 10 दिन में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ाई की थी। न्होंने यह कारनामा 12 मई से 21 मई 2011 के बीच किया था। ऐसा करने वाली वह दुनिया की पहली मां है। 

अंशु अरुणाचल प्रदेश के बोमडिला की रहने वाली है।वह बोमडिया इलाके के मोनपा कबीले से आती हैं।  18 मई 2013 को उन्होंने तीसरी बार एवरेस्ट फतह की थी। 18 मई 2013 को अंशु ने हिमालय की तीन चोटियां लोबुच(6119 मीटर),पोखालडे(5896 मीटर) और आइसलैंड(6189 मीटर) पर 6 दिनों में चढ़कर फतह हासिल की। तापी एम. अरुणाचल प्रदेश की पहली महिला थी जिसने माउंट एवरेस्ट की चोटी को फतह किया था। 

उन्होंने यह कारनामा 21 मई 2009 में किया था। इसके बाद 25 वर्षीय तिने मेना ने 9 मई 2011,निमा लामा ने 17 मई 2013 और एसएसबी की हेड कांस्टेबल तामे बगांग ने 21 मई 2016 को माउंट एवरेस्ट पर फतह हासिल की। माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप 17 हजार 598 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।