पांच हजार से बिजनेस शुरू किया था, अब इस लड़की ने 50 करोड़ की बनाई कंपनी

Daily news network Posted: 2017-03-08 13:28:11 IST Updated: 2017-03-08 13:28:11 IST
पांच हजार से बिजनेस शुरू किया था, अब इस लड़की ने 50 करोड़ की बनाई कंपनी
  • 8 मार्च को विश्व महिला दिवस के इस मौके पर हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहा है, जिन्होंने अपनी जिद और मेहनत के दम पर 5 हजार रुपए में बिजनेस शुरू किया और अब उनकी कंपनी 50 करोड़ का कारोबार कर रही है।

नई दिल्ली।

8 मार्च को विश्व महिला दिवस के इस मौके पर हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहा है, जिन्होंने अपनी जिद और मेहनत के दम पर 5 हजार रुपए में बिजनेस शुरू किया और अब उनकी कंपनी 50 करोड़ का कारोबार कर रही है। ये देश की अन्य महिलाओं के लिए एक रोल मॉडल हैं। इनका नाम है सुप्रिया साबू।



सुप्रिया साबू फाइन आर्ट्स में डिग्री हासिल करने के बाद जिंदगी भर किसी की नौकरी नहीं करना चाहती थी। इसलिए इन्होंने 2009 में स्टार्टअप शुरू करने का फैसला किया। उस समय भारत में स्टार्टअप का भविष्य कुछ खास नहीं था। लेकिन कुछ करने की चाह रखने वाली सुप्रिया ने हिम्मत नहीं हारी।

शुरू में सुप्रिया ने पांच हजार रुपए की लागत से 'मास्टर स्ट्रोक एडवरटाइजिंग' नाम की पहली कंपनी खोली। ये वह रुपए थे जो उनकी बचत के थे। इसके बाद उन्हें बिजनेस में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन्हें बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए पैसों की जरूरत पड़ने लगी।



उन्होंने बैंक से लोन लेने के लिए कई चक्कर भी लगाए लेकिन बैंक ने भी लोन देने से मना कर दिया। इसके बाद सुप्रिया के पिता आगे आए और उन्होंने कहा की वह मदद करेंगे।

धीरे-धीरे सुप्रिया की कंपनी 'मास्टर स्ट्रोक एडवरटाइजिंग' के लिए टेंडर भी मिलने लगे और कंपनी की कमाई का जरिया भी बढ़ने लगा। यह कंपनी बहुत तेजी से अपनी मंजिल की ओर बढ़ने लगी। इस बीच कंपनी के काम से प्रभावित होकर सरकारी और प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों के काम भी मिलने लगे।



सुप्रिया का स्टार्टअप अपनी गुणवत्तापूर्ण काम के लिए बेहद कम समय में मजबूती से स्थापित होने लगी। सुप्रिया इस स्टार्टअप के जरिए वेब डिजाइनिंग, ग्राफिक, मार्केटिंग, कॉरपोरेट प्रेजेंटेशन का काम करती हैं। 2012 में उन्होंने ई-कॉमर्स में भी हाथ आजमाया। रिपोर्ट्स की माने तो 2016 तक सुप्रिया का स्टार्टअप करीब 50 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। सुप्रिया का सफ़र अभी भी जारी है।