असम की इस मॉडल ने तोड़ी बोल्डनेस की सारी हदें, देखकर उड़ जायेंगे आपके होश

Daily news network Posted: 2017-09-30 12:57:00 IST Updated: 2017-09-30 12:59:16 IST
असम की इस मॉडल ने तोड़ी बोल्डनेस की सारी हदें, देखकर उड़ जायेंगे आपके होश
  • असम की इस मॉडल ने तोड़ी बोल्डनेस की सारी हदें, जिसे देखकर आपके होश उड़ जायेंगे।

असम

असम की इस मॉडल ने तोड़ी बोल्डनेस की सारी हदें, जिसे देखकर आपके होश उड़ जायेंगे। बेहद खूबसूरत असम ब्यूटी प्रियदर्शनी चटर्जी आज ग्लैमर की दुनिया का उभरता हुआ चेहरा हैं, साल 2016 में प्रियदर्शिनी चटर्जी ने एफबीबी फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड 2016 के खिताब पर कब्जा जमाया था. 

लेकिन आज हम आपको प्रियदर्शिनी के बारे में कुछ ऐसी दिलचस्प बातें बताने जा रहे हैं जो शायद ही आपने पहले कहीं सुनी या पढ़ी हों. जी हां बेहद खुबसुरत प्रियदर्शिनी वैसे तो बंगाली हैं लेकिन उनकी परवरिश असम राज्य की गुवाहटी सिटी में हुई। 

प्रियदर्शनी चटर्जी का जन्म 4 सितंबर 1996 को असम के धुबरी में हुआ है। इसके साथ ही प्रियदर्शिनी ने अपनी स्कूलिंग गुवाहाटी के मारिया पब्लिक स्कूल से की है। जिसके बाद वो आगे की पढाई के लिए दिल्ली आ गई।

प्रियदर्शिनी को ट्रैवलिंग करना बहुत पसंद है, उनका मानना है कि घूमने के लिए वीजा नहीं लगाया जाना चाहिए, इसके साथ ही प्रियदर्शनी फैशन जगत में मॉडल एलिसा राऊत को अपना रोल मॉडल मानती हैं।

9 साल की उम्र में प्रियदर्शनी को पेट में दर्द की शिकायत की वजह से हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया।यहां इलाज के दौरान उनकी इंटेस्टाइन में ट्यूमर मिला। सर्जरी के बाद बेशक वे ठीक हो गईं लेकिन सही समय पर इलाज नहीं मिलता तो शायद वे सर्वाइव नहीं कर पातीं।

प्रियदर्शनी नॉर्थ-ईस्ट इंडिया की पहली प्रतिभागी हैं, जिन्होंने मिस वर्ल्ड कम्पिटीशन में पार्टिसिपेट किया था। प्रियदर्शनी 2016 में ही फेमिना मिस इंडिया, फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड और फेमिना मिस इंडिया दिल्ली 2016 का खिताब जीत चुकी हैं।

 

बॉलीवुड में प्रियदर्शनी को रणबीर कपूर बेहद पसंद है और वो उनके साथ स्क्रीन शेयर करना चाहती हैं. 

आपको बता दें की प्रियदर्शिनी के दादा अनिल चटर्जी हिंदी और बांग्ला फिल्मों के एक्टर थे। उन्होंने 150 से ज्यादा बांग्ला फिल्मों में काम किया था। आपको बता दें कि प्रियदर्शनी सामाजिक सरोकार के कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती हैं। वो ‘उत्साह’ नाम की एक NGO से जुड़ी हुई हैं। यह संस्था बच्चों के लिए काम करती है।