त्रिपुरा मुख्यमंत्री से खफा कांग्रेसियों ने लगाई पान की दुकान

Daily news network Posted: 2018-05-12 10:03:05 IST Updated: 2018-05-12 19:10:54 IST
  • अपने अजीबोगरीब बयानों के चलते विवादों में छाये रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब अपने एक और बयान के कारण सुर्खियों में आ गए हैं।

अगरतला।

अपने अजीबोगरीब बयानों के चलते विवादों में छाये रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब एक और बयान के कारण सुर्खियों में आ गए हैं। कभी वह महाभारत काल में इंटरनेट होने की बात करते हैं, तो कभी युवाओं को सरकारी नौकरी के पीछे भागना छोड़कर पान की दुकान खोलने की सलाह देने वाले बिप्लब देब ने अंग्रेजों के विरोध में रवींद्रनाथ टैगोर के नोबेल पुरस्कार लौटा देने का दावा एक कार्यक्रम में किया था, जिसके बाद वह विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। उनके इन विवादित बयानों के लेकर कांग्रेसियों में देब के खिलाफ अपना रोष व्याप्त करते हुए शंकर चौराहे पर पान की दुकान लगा कर विरोध प्रदर्शन किया।




शहर कांग्रेस कमेटी के शहर अध्यक्ष तौकीर अहमद के नेतृतव में आयोजित मासिक बैठक में सबसे पहले यूथ कांग्रेस कमेटी के विस्तार को लेकर चर्चा हुई। पदाधिकारियों का चयन कर प्रदेश कांग्रेस कमेटी को भेजा गया। इसके बाद यूथ कांग्रेस के शहर अध्यक्ष शानू खान के नेतृत्व में कार्यकर्ता शंकर चौराहे पर पहुंचे और पान का स्टाल लगा कर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन किया। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के उस बयान की निंदा की, जिसमें बेरोजगारों को रोजगार देने के बजाय उन्हें पान की दुकान खोलने को कहा गया।



कांग्रेस अध्यक्ष शानू खान ने कहा कि बिप्लब देब के इन बयानों से युवाओं का अपमान हो रहा है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी भी बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने की सलाह दे चुके हैं। अमित शाह इसका समर्थन कर चुके हैं। प्रदर्शन करने वालों में शिव किशोर गौतम, अशरफी अंसारी, शोभना सैमुअल, वरीद वारसी, इतरत हुसैन, बाबर, अनजार मंसूरी, आरिफ तनवीर, फुरकान कुरैशी, हाजी मुमताज, मोहम्मद अख्तर, स्वतंत्र कुमार, अथर, इफ्तेखार कुरैशी आदि मौजूद रहे।


डायना हेडन की खूबसूरती पर सवाल

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने डायना हेडन के 1997 में मिस वर्ल्ड खिताब जीतने पर सवाल उठाया और अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताओं को छलावा बताया डाला।डायना हेडन भी जीत गयीं क्या आपको लगता है कि उन्हें ताज जीतना चाहिए था?


महाभारत काल में इंटरनेट

बिप्लब देब का एक बयान इंटरनेट को लेकर भी आया, जिसमें उन्होंने महाभारत काल में इंटरनेट होने का दावा किया था उन्होंने कहा था कि महाभारत में संजय ने नेत्रहीन होते हुए भी धृतराष्ट्र को युद्ध के मैदान का हाल सुनाया था जो इंटरनेट और टेक्नोलॉजी की वजह से ही हुआ। भारत को डिजिटल की दिशा में आगे बढ़ाने के लिए पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने यह भी दावा किया कि महाभारत युग में सैटलाइट भी मौजूद थे।


युवा खोलें पान की दुकान

बिप्लब देब ने अगरतला में अपने सूबे के नौजवानों को सलाह देते हुए कहा, नौजवान सरकारी नौकरी पाने के लिए सालों तक पार्टियों के पीछे भागते रहते हैं और अपने जीवन का कीमती समय खराब करते हैं। अगर यही युवा पार्टियों के पीछे भागने के बजाय अपनी पान की दुकान शुरू करता, तो उसके खाते में पांच लाख रुपये जमा हो चुके होते।