रिटायर्ड टीचर को फटकार लगाने से नाराज लोगों ने रेल मंत्री से की माफी की मांग

Daily news network Posted: 2018-05-12 15:22:57 IST Updated: 2018-05-12 18:18:30 IST
रिटायर्ड टीचर को फटकार लगाने से नाराज लोगों ने रेल मंत्री से की माफी की मांग
  • असम के नगांव में आयोजित एक सभा के अंतर्गत मंच पर आसीन राज्य मंत्री राजेन गोहेन को विभिन्न समस्याआें से अवगत कराने गए अवकाश प्राप्त शिक्षक को अपमानित कर मंच से उतारने की घटना की जहां पूरे राज्य में आलोचना हुर्इ।

गुवाहाटी।

असम के नगांव में आयोजित एक सभा के अंतर्गत मंच पर आसीन राज्य मंत्री राजेन गोहेन को विभिन्न समस्याआें से अवगत कराने गए अवकाश प्राप्त शिक्षक को अपमानित कर मंच से उतारने की घटना की जहां पूरे राज्य में आलोचना हुर्इ। ताे वहीं होजार्इ जिला के डबका में एनएसयूआर्इ होजार्इ जिला समिति के सदस्याें ने बुधवार को राजेन गोहार्इ को पुतला दहन की शिक्षक को अपमानित करने की घटना की निंदा की हैं। साथ ही मांग की है कि वे जल्द से जल्द शिक्ष्क से माफी मांगे। विरोध के दौरान एनएसयूआर्इ के सदस्यों ने कहा कि वे अगर माफी नहीं मांगते है तो वे गणतांत्रिक तरीके से आंदोलन करेंगे।

 

बता देंं कि असम के नगांव जिले में एक कार्यक्रम के दौरान एक रिटायर्ड शिक्षक के अपने इलाके में सड़कों की खराब हालत का मुद्दा उठाने से केंद्रीय रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन इस कदर नाराज हो गए कि, उन्होंने ‘सार्वजनिक मंच पर मुद्दा उठाने के लिए’ रिटायर्ड शिक्षक को सबके सामने ही बुरी तरह से डांट दिया।


ये घटना स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े एक कार्यक्रम में हुई और स्थानीय टीवी चैनलों ने उसे अपने कैमरे में कैद कर लिया। सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के साथ मंत्री का विरोध होना शुरू हो गया है। जिसके बाद गुस्साएं लोगों ने नगांव स्थित मंत्री के घर के बाहर जमा होकर उनकी टिप्पणी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। 


कार्यक्रम के दौरान रिटायर्ड शिक्षक ने सड़कों की खराब हालत का मुद्दा उठाते हुए कहा, ‘आप सड़कों की असली हालत देखने के लिए मेरे साथ आ सकते हैं, इसके बाद आप फैसला कर सकते हैं कि मैं सच बोल रहा हूं या नहीं।’


इससे नाराज मंत्री ने शिक्षक को बीच में रोकते हुए कहा , ‘आप इस तरह के मुद्दे क्यों उठा रहे हैं ? आपको इससे क्या फायदा मिलेगा ? आप किसी गलत मकसद से आए हैं.’ उन्होंने कहा, ‘अगर आपको कोई शिकायत थी तो आपको व्यक्तिगत रूप से मुझसे संपर्क करना चाहिए था, न कि जनता के सामने, यह क्या बेहूदगी है।