मुश्किल में फंसी भाजपा सरकार, मणिपुर में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा

Daily news network Posted: 2018-05-18 17:38:31 IST Updated: 2018-05-18 17:50:10 IST
मुश्किल में फंसी भाजपा सरकार, मणिपुर में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा
  • मणिपुर में कांग्रेस विधायकों ने राज्य में सरकार बनाने के लिए शुक्रवार को दावा पेश किया। कर्नाटक में राज्यपाल वजुभाई वाला के भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के फैसले के खिलाफ कांग्रेस और जद (एस) के संयुक्त विरोध के बाद यह कदम उठाया गया है।

इंफाल।

मणिपुर में कांग्रेस विधायकों ने राज्य में सरकार बनाने के लिए शुक्रवार को दावा पेश किया। कर्नाटक में राज्यपाल वजुभाई वाला के भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के फैसले के खिलाफ कांग्रेस और जद (एस) के संयुक्त विरोध के बाद यह कदम उठाया गया है।


राज्य इकाई के प्रवक्ता जयकिशन सिंह ने बताया कि मणिपुर विधानसभा में विपक्ष के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री ओकरम इबोबी सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नौ नेताओं ने राज्यपाल जगदीश मुखी से राजभवन में दोपहर दो बजे मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया।



मणिपुर के आधार पर ही शुक्रवार को बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राजद, कांग्रेस, हम और माले विधायकों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया। तेजस्वी यादव ने दावा किया है राजद, कांग्रेस, हम और माले के 111 विधायकों के अलावा राजग के कई विधायक हम लोगों के संपर्क में हैं और फ्लोर टेस्ट का मौका मिलने पर वो आसानी से बहुमत साबित कर देंगे।



उन्होंने कहा कि अभी हमारे पास 111 विधायकों का समर्थन पत्र है और अगर हम लोगों को सरकार बनाने का मौका मिलता है कि हम लोग आसानी से बहुमत साबित कर देंगे। मैंने राज्यपाल को इन सभी विधायकों का समर्थन पत्र सौंप दिया है और सरकार बनाने के लिए मौका देने का आग्रह किया है।



वहीं, गोवा में कांग्रेस ने यहां सबसे बड़ी पार्टी होने का हवाला देते हुए सरकार बनाने का दावा किया है। राज्यपाल से मुलाकात करने के लिए कांग्रेस के 13 विधायकों ने राजभवन तक मार्च किया। कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए राज्यपाल मृदुला सिन्हा को ज्ञापन सौंप दिया है।



बता दें कि वर्ष 2017 में हुए  विधानसभा चुनाव में विधानसभा की कुल 60 सीटों में से 28 पर जीत हासिल कर कांग्रेस राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। राज्य में 21 सीटों पर जीत हासिल करने वाली भाजपा ने क्षेत्रीय पार्टियों के साथ हाथ मिला लिया था और राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने उनके गठबंधन को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था।


 


गौरतलब है कि मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर कर सामने आर्इ है। जिसके बाद कर्नाटक में राज्यपाल ने राज्य की सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का न्यौता दिया इस पर बिहार, गोवा, मणिपुर जैसे राज्यों की राजनीति में भुचाल आ गया है । इन राज्यों में विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टियों की मांग है कि जिस आधार पर कर्नाटक में भाजपा को मौका मिला ठीक उसी आधार पर गोवा, मणिपुर और बिहार में भी राज्यपाल को उन पार्टी को सरकार बनाने का मौका देना चाहिए जो राज्य में बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन जोड़-तोड़ की राजनीति में फिसड्डी रहीं और सरकार बनाने में चूक गईं।