सुबह 7 बजे घर से गायब हुआ सीपीएम का पार्षद, 21 घंटे बाद बेहोश मिला

Daily news network Posted: 2018-04-17 11:38:47 IST Updated: 2018-04-17 12:18:46 IST
सुबह 7 बजे घर से गायब हुआ सीपीएम का पार्षद, 21 घंटे बाद बेहोश मिला
  • अगरतला नगर निगम में सीपीएम का पार्षद मलय चक्रवर्ती सोमवार सुबह अचानक गायब हो गया।

अगरतला।

अगरतला नगर निगम में सीपीएम का पार्षद मलय चक्रवर्ती सोमवार सुबह अचानक गायब हो गया। पुलिस ने बताया कि मलय चक्रवर्ती 12 घंटे के बाद घायल अवस्था में मिला,उस वक्त वह बेहोश था। 55 वर्षीय मलय चक्रवर्ती सुबह 7 बजे के बाद से गायब था। वह अगरतला के जॉयनगर इलाके में रहता है। शाम को करीब 6.45 बजे वह अपने घर से करीब एक किलोमीटर दूर बताला शवदागगृह के पास मिला।

स्थानीय लोगों ने मलय को घायल अवस्था में देखा और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पार्षद को घर लाया गया। यह जानकारी पार्षद की पत्नी बनसारी चक्रवर्ती ने पत्रकारों को दी। बनसारी चक्रवर्ती का कहना है कि उनके पति बुरी चरह चोटिल अवस्था में मिले। हालांकि पश्चिम अगरतला पुलिस थाने के प्रभारी सुब्रता चक्रवर्ती का कहना है कि पार्षद मामूली रूप से चोटिल है। सीपीएम नेता को फस्र्ट एड के लिए अस्पताल ले जाया गया, बाद में उसे घर लाया गया।


पार्षद के परिवार ने पुलिस थाने में मिसिंग डायरी फाइल की। यह अभी पता नहीं चल पाया है कि घटना कैसे हुई। सीपीएम के प्रवक्ता गौतम दास ने घटना में किसी राजनीतिक दल की संलिप्तता की संभावना से इनकार किया है। दास ने कहा, हमने सुना था कि उसने घर छोड़ा और सुबह से गायब है। अभी तक ऐसा नहीं लगता कि इस घटना के पीछे कोई राजनीतिक मकसद है।


मलय चक्रवर्ती बीती रात अपने घर पर ही था, लेकिन अगली सुबह उसे न तो परिवार के सदस्यों के देखा और न ही रिश्तेदारों ने। आपको बता दें कि 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और आईपीएफटी गठबंधन ने लेफ्ट फ्रंट का सूपड़ा साफ कर दिया था। दोनों दलों के गठबंधन ने राज्य की 60 में से 44 सीटें जीती थी। इस तरह राज्य में 25 साल पुराने सीपीएम के नेतृत्व वाले लेफ्ट फ्रंट के शासन का अंत हो गया। हालांकि अगरतला नगर निगम में अभी भी लेफ्ट फ्रंट का राज है।