लोकसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार ने खेला नया दांव, राहुल-अखिलेश के गढ़ में लगाएगी सेंध

Daily news network Posted: 2018-05-18 10:41:47 IST Updated: 2018-05-25 14:12:25 IST
  • जनता दल यूनाइटेड अब मणिपुर और नागालैंड सहित उत्तर पूर्व राज्यों में फोकस कर रही है।

इंफाल।

जनता दल यूनाइटेड अब मणिपुर और नागालैंड सहित उत्तर पूर्व राज्यों में फोकस कर रही है। इसके पहले चरण में 19 मई को वरिष्ठ नेताओं की एक टीम इंफाल पहुंचेगी। वहीं 20 मई को राजनीतिक सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।  कहा जा रहा है कि जदयू मणिपुर लोकसभा सीट पर भी उम्मीदवार उतारने की तैयारी में है। 


इसी कड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने उत्तर-पूर्व से आए नेताओं से मुलाकात की। पार्टी ने उत्तर-पूर्व के राज्यों में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी, राज्यसभा सदस्य हरिवंश और राष्ट्रीय सचिव अफाक अहमद की सदस्यता वाली तीन सदस्यीय टीम गठित की है। तीनों वरिष्ठ नेता 19 मई को इंफाल जाएंगे। उनके साथ नगालैंड जदयू चुनाव कम्पेन कमेटी के अध्यक्ष और नगालैंड सरकार में मंत्री मोनडेमो होमसी, नगालैंड जदयू के प्रदेश महासचिव कितोहो रोटाखा और मणिपुर के जदयू अध्यक्ष व पूर्व मंत्री पाओ टाइथू भी मौजूद रहेंगे। पार्टी लोकसभा चुनाव के पूर्व अधिकतर राज्यों में अपने संगठन का विस्तार चाहती है।



 

2014 के लोकसभा चुनाव में मणिपुर की दोनों लोकसभा सीटों पर तो कांग्रेस का कब्जा हुआ पर उत्तर-पूर्व का यह इलाका समाजवादियों का पुराना गढ़ रहा है। 1951-52 में हुए लोकसभा के पहले चुनाव में मणिपुर बाहरी सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा हुआ था। 1962 के आम चुनाव में भी सोशलिस्ट पार्टी यहां काबिज हुई। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद नीतीश कुमार देश भर में जदयू को एक प्रमुख पार्टी के तौर पर स्थापित करना चाहते हैं। बता दें कि जदयू ने कर्नाटक विधानसभा में भी अपने उम्मीदवार उतारे थे। हालांकि वे एक भी सीट जीत तो नहीं पाए, लेकिन कई सीटों पर उसे अच्छा खासा वोट मिला।



जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि हम राष्ट्रीय पार्टी की दर्जा पाने की तैयारी में हैं। इसे हम हासिल भी करेंग़े। देश एक बार फिर नीतीश कुमार की ओर उम्मीद भरी नजरों से देख रहा है। उत्तर-पूर्व में भी हम मजबूत स्थिति में होंगे। हम 19 मई को इंफाल पहुंचेंगे और वहां दिन भर पार्टी नेताओं के साथ बैठक करेंगे।