3 दिन की यात्रा पर चीन जाएंगी रक्षामंत्री, मंत्रालय ने Tweet कर दी जानकारी

Daily news network Posted: 2018-04-21 10:00:08 IST Updated: 2018-04-21 18:57:15 IST
  • डोकलाम गतिरोध के बाद चीन से लगती सीमा पर दोनों ओर से निरंतर जारी हलचलों के बीच रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण तीन दिन की यात्रा पर 23 से 25 अप्रैल तक चीन जायेंगी।

नई दिल्ली

डोकलाम गतिरोध के बाद चीन से लगती सीमा पर दोनों ओर से निरंतर जारी हलचलों के बीच रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण तीन दिन की यात्रा पर 23 से 25 अप्रैल तक चीन जायेंगी। रक्षा मंत्री की चीन यात्रा को लेकर पिछले कुछ समय से कयास लगाये जा रहे थे, लेकिन आज रक्षा मंत्रालय ने Tweet कर उनकी यात्रा की तारीखों का ऐलान किया। 


रक्षा मंत्रालय के tweet में कहा गया है, सीतारमण 23 से 25 अप्रैल तक चीन यात्रा पर जायेंगी। लगभग दो साल के अंतराल पर हो रही रक्षा मंत्री की इस यात्रा को पिछले करीब एक साल के घटनाक्रम के मद्देनजर संबंधों में आई शिथिलता को दूर करने के अवसर के तौर पर देखा जा रहा है। रक्षा मंत्रालय की ओर से  सीतारमण के कार्यक्रम के बारे में अभी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गयी है लेकिन यह बताया गया है कि वह 24 अप्रैल को शंघाई सहयोग संगठन के रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेंगी। 




इसके बाद उनके अपने चीनी समकक्ष से द्विपक्षीय बातचीत का भी कार्यक्रम है। सीतारमण से पहले पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर अप्रैल 2016 में चीन गये थे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी शंघाई सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिए इस दौरान शंघाई में रहेंगी। शंघाई सहयोग संगठन में चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान , रूस , ताजिकिस्तान , उज्बेकिस्तान , भारत और पाकिस्तान शामिल हैं। भारत और पाकिस्तान को संगठन में शामिल किये जाने के बाद इसकी यह पहली बैठक हो रही है। 






राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी पिछले सप्ताह ही चीन में सत्तारूढ कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य तथा चीन के विदेश मामलों के आयोग के निदेशक यांग जिची से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान दोनों पक्षों ने विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों तथा संबंधों को और प्रगाढ बनाने के लिए विस्तार से बात की थी। सिक्किम सेक्टर में भूटान और चीन से लगते ट्राईजंक्शन में पिछले वर्ष भारतीय सेना और चीनी सेना के जवान आमने सामने आ गये थे और यह गतिरोध लगभग ढाई महीने तक चला था।