असमः आय से ज्यादा संपत्ति के मामले में कांग्रेस मंत्री के यहां दूसरे दिन भी छापेमारी

Daily news network Posted: 2018-04-21 14:22:44 IST Updated: 2018-04-21 15:04:40 IST
असमः आय से ज्यादा संपत्ति के मामले में कांग्रेस मंत्री के यहां दूसरे दिन भी छापेमारी
  • आय से ज्यादा संपत्ति रखने के मामले में घिरे कांग्रेसी नेता आैर पूर्व मंत्री रकीबुल हुसैन की मुसीबतें आैर बढ़ने लगी हैं। असम पुलिस की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने लगातार दूसरे दिन भी नगांव स्थित उनके घर आैर अन्य ठिकानों पर छापेमारी जारी रखी है।

गुवाहाटी।

आय से ज्यादा संपत्ति रखने के मामले में घिरे कांग्रेसी नेता आैर पूर्व मंत्री रकीबुल हुसैन की मुसीबतें आैर बढ़ने लगी हैं। असम पुलिस की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने लगातार दूसरे दिन भी नगांव स्थित उनके घर आैर अन्य ठिकानों पर छापेमारी जारी रखी। पुलिस अधीक्षक प्रणब ज्योति गोस्वामी की अगुवार्इ में दस सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को दूसरे दिन रकीबुल के विधानसभा क्षेत्र सामागुड़ी में भी अभियान चलाकर अपनी जांच जारी रखी। 

 


इस पर पूर्व मंत्री ने नगांव के रजीव भवन में कुछ पत्रकारों के सामने कहा कि छापेमारी एक सोची समझी राजनीतिक चाल है। वहीं रकीबुल के बयान को दरकिनार करते हुए जांच टीम ने सामागुड़ी के आमोनी पेट्रोल पंप, होटल, मावामारी आदि के साथ ही कर्इ स्थानों पर अभियान चलाए आैर कागजात की जांच की ।


 


गौरतलब है कि निलंबित कांग्रेसी नेता अनिल राजा ने आरोप लगाया था कि रकीबुल के पास सामागुड़ी के पश्चिम लरिमुख में सात बीघा, कावैमारी में छह वीघा आैर दो कटठा अौर बढ़मपुर विधानसभा  के चलचली खाट में 60 बीघा फार्म हाउस होने के अलावा विभिन्न क्षेत्रों में  बेनामी संपत्ति है। जांच टीम ने सामागुड़ी के राजस्व अधिकारी संजीव दास से पूछताछ की।


इसके साथ ही कृषक श्रमिक उन्नयन परिषद के अध्यक्ष प्रदीप कलिता का आरोप है कि रकीबुल के पास तकरीबन 3000 करोड़ की संपत्ति है आैर जिसमें अकेले 1000 करोड़ की संपत्ति सामागुड़ी में ही है। साथ ही उन्होंने बताया कि नगांव आैर असम से बाहर भी कर्इ जगह उनकी बेनामी संपत्तियां हैं। कृषक नेता ने खुलासा करते हुए कहा है कि दुबर्इ के जुमेराह स्ट्रीट में भी रकीबुल की संपति है आैर यही वजह है कि रकीबुल अक्सर दुबर्इ आते जाते रहते हैं।

 


इसके अलावा उन्होंने कहा कि इस मामले में सरकार को उनके पासपोर्ट की जांच करनी चाहिए। बता दें कि करीब 48 घंटे चले इस अभियान के बाद असम की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा टीम गुवाहाटीलाैट गर्इ। सूत्रो के मुताबिक पुलिस के हाथ रकीबुल के खिलाफ कर्इ सबूत लगे हैं।