'त्रिपुरा में भाजपा सरकार के बाद माकपा पहन रही है मोदी की टी-शर्ट'

Daily news network Posted: 2018-03-12 13:20:10 IST Updated: 2018-03-12 14:24:27 IST
'त्रिपुरा में भाजपा सरकार के बाद माकपा पहन रही है मोदी की टी-शर्ट'
  • पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनने के बाद सीपीएम पर सुनील देवधर ने चुटकी लेते हुए कहा कि, राज्य में बीजेपी की आपार जीत के बाद सीपीएम के समर्थक भी अब बीजेपी और मोदी की टी शर्ट पहनकर घूम रहे हैं।

अगरतला

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनने के बाद सीपीएम पर सुनील देवधर ने चुटकी लेते हुए कहा कि, राज्य में बीजेपी की आपार जीत के बाद सीपीएम के समर्थक भी अब बीजेपी और मोदी की टी शर्ट पहनकर घूम रहे हैं।



पूर्वोत्तर में संघ के प्रचारक रहे सुनील देवधर ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट के जरिए माणिक सरकार की सीपीएम सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने अपने धोबी के साथ अपनी एक पिक्चर पोस्ट करते हुए कहा कि, मेरे साथ तपन मजूमदार है। इसका अगरतला में कपड़े इस्त्री करने का और छोटी मोटी सिलाई करने का दुकान है। गत तीन वर्ष मेरे कपड़ों को इस्त्री करता था इसलिए आसपास के सीपीएम वाले उसको धमकाते थे, कहते थे प्रभारी सुनील देवधर के कपड़े इस्त्री करते हो, चुनाव के बाद तुमको मार देंगे, लेकिन बाजी पलट गयी। अब वही सारे मोदी टी शर्ट पहनकर बीजेपी वाले बनकर घूम रहे है। ऐसा होता है सीपीएम का केडर।


बता दें कि सुनील देवधर ने इससे पहले भी माणिक सरकार पर एक ट्वीट के जरिए माणिक सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने एक ट्वीट कर त्रिपुरा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव से कहा कि सभी मंत्रियों के क्वार्टर के सेप्टिक टैंक उनके आने से पहले साफ  करवाए जाएं क्योंकि माणिक सरकार के क्वार्टर में सेप्टिक टैंक से एक नरकंकाल निकला था।




माना जा रहा है कि इस ट्वीट से देवधर का सीधा मकसद नरकंकाल के मुद्दे को फिर से उठाकर माणिक सरकार को घेरना है। त्रिपुरा बीजेपी प्रभारी सुनील देवधर ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि मैं त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव से आग्रह करता हूं कि मंत्रियों के आवास में उनके जाने से पहले वहां के सेप्टिक टैंकों की सफाई करवा दें।



उन्होंने आगे लिखा कि शायद आपको याद हो कि 4 जनवरी, 2005 को पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार के आवास में बने सेप्टिक टैंक से एक महिला का कंकाल मिला था, लेकिन इस मामले को जानबूझकर दबा दिया गया। अपने ट्वीट में ऐसे मामले का जिक्र कर देवधर ने जताया है कि सरकार बदलने के बाद भी वह लेफ्ट को घेरने का कोई मौका नहीं छोडऩे वाले हैं। कथित 13 साल पुराने मामले में सीएम के घर से शव मिला था।



इस ट्वीट के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि नई बीजेपी सरकार फिर से मामले की जांच शुरू कर सकती है।  सीएम बिप्लब देव की ओर से इसपर अब तक कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। अब हर किसी को इस बात का इंतजार है कि देवधर के ट्वीट और अनुरोध के बाद वह मामले की जांच के आदेश देते हैं या नहीं।