शिवसेना अध्यक्ष से मिले सुनील देवधर, पूर्वोत्तर आने का दिया न्यौता

Daily news network Posted: 2018-04-22 13:11:04 IST Updated: 2018-04-22 13:11:04 IST
शिवसेना अध्यक्ष से मिले सुनील देवधर, पूर्वोत्तर आने का दिया न्यौता
  • राज्यसभा सांसद और सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत की मराठी पुस्तक जीओएफ का शनिवार को मुंबई में विमोचन हुआ।

अगरतला

राज्यसभा सांसद और सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत की मराठी पुस्तक जीओएफ का शनिवार को मुंबई में विमोचन हुआ। पुस्तक का विमोचन सिक्किम के राज्यपाल श्रीनिवास पाटील ने किया। इस मौके पर शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के साथ कांग्रेस सांसद कुमार केतकर और उत्तर-पूर्वी राज्यों में बीजेपी की जीत के शिल्पकार सुनील देवधर मौजूद थे। 



कार्यक्रम से पहले सुनील देवधर ने उद्धव ठाकरे और राज्यपाल श्रीनिवास से मुलाकात की। सुनील देवधर ने दोनों का पूर्वोत्तर भारत की विशेष शॉल पहनाकर स्वागत किया। इस बात का जिक्र सुनील देवधर ने अपने फेसबुक पेज पर किया है। उन्होंने कार्यक्रम की कुछ तस्वीरों को भी यूजर्स के साथ शेयर किया। इस मौके पर सुनील देवधर ने उद्धव ठाकरे को पूर्वोत्तर आने का न्यौता दिया। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि मेरे इस निवेदन को उद्धव ठाकरे ने सहर्ष स्वीकार कर लिया है। 



बता दें कि इस कार्यक्रम में शिवसेना अध्यक्ष प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व के मुद्दे पर पिछले 25 साल से हमारी दोस्ती हुआ करती थी, मगर अच्छे दिन आते ही बीजेपी के लिए शिवसेना अनचाही हो गई। हमें इसी बात की परेशानी है। 



उद्धव ने कहा कि हिंदुत्व के मसले पर शिवसेना तुम्हारे (बीजेपी) साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रही है। सत्ता में आने के बाद उसको कुछ न दो तो, कम से कम उसकी झोली में पत्थर तो न डालो। शिवसेना अध्यक्ष ने कहा कि याद रहे हिंदुत्व के मुद्दे पर देश भर में जीतकर आने वाला पहला विधायक शिवसेना का था। उसके बाद लोगों को महसूस हुआ कि हिंदुत्व को लेकर चुनाव भी लड़े जा सकते हैं। 



इस सिलसिले में स्वातंत्र्यवीर सावरकर को याद करते हुए उन्होंने कहा कि सावरकर ने जो किया, वैसा आदमी फिर से जन्म लेगा, यह मुमकिन नहीं है। उद्धव ने कहा कि देश बनाने वाले अब नहीं बचे। उपदेश देने वाले बहुत हैं। ये उपदेश देने वाले जिस तरह से खुद पेश आते हैं, वह देखकर सदमा लगता है। देश में उस तरह के व्यक्तत्व ही नहीं रहे।