'माणिक सरकार के घर से निकला था नरकंकाल'

Daily news network Posted: 2018-03-10 16:32:44 IST Updated: 2018-06-20 14:29:21 IST
  • पूर्वोत्तर में संघ के प्रचारक रहे सुनील देवधर ने एक ट्वीट के जरिए माणिक सरकार पर निशाना साधा

अगरतला।

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में भारी बहुमत से मिली जीत के बाद अब यहां के पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार संघ और बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल पूर्वोत्तर में संघ के प्रचारक रहे सुनील देवधर ने एक ट्वीट के जरिए माणिक सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने एक ट्वीट कर त्रिपुरा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव से कहा कि सभी मंत्रियों के क्वार्टर के सेप्टिक टैंक उनके आने से पहले साफ  करवाए जाएं क्योंकि माणिक सरकार के क्वार्टर में सेप्टिक टैंक से एक नरकंकाल निकला था।

माना जा रहा है कि इस ट्वीट से देवधर का सीधा मकसद नरकंकाल के मुद्दे को फिर से उठाकर माणिक सरकार को घेरना है। त्रिपुरा बीजेपी प्रभारी सुनील देवधर ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि मैं त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव से आग्रह करता हूं कि मंत्रियों के आवास में उनके जाने से पहले वहां के सेप्टिक टैंकों की सफाई करवा दें।



उन्होंने आगे लिखा कि शायद आपको याद हो कि 4 जनवरी, 2005 को पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार के आवास में बने सेप्टिक टैंक से एक महिला का कंकाल मिला था, लेकिन इस मामले को जानबूझकर दबा दिया गया। अपने ट्वीट में ऐसे मामले का जिक्र कर देवधर ने जताया है कि सरकार बदलने के बाद भी वह लेफ्ट को घेरने का कोई मौका नहीं छोडऩे वाले हैं। कथित 13 साल पुराने मामले में सीएम के घर से शव मिला था।



इस ट्वीट के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि नई बीजेपी सरकार फिर से मामले की जांच शुरू कर सकती है।  सीएम बिप्लब देव की ओर से इसपर अब तक कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। अब हर किसी को इस बात का इंतजार है कि देवधर के ट्वीट और अनुरोध के बाद वह मामले की जांच के आदेश देते हैं या नहीं।