कोकराझार में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ी गई

Daily news network Posted: 2018-03-14 12:45:41 IST Updated: 2018-03-14 13:59:27 IST
कोकराझार में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ी गई
  • असम से चौंकाने वाली घटना सामने आई है। कोकराझार कस्बे में जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ा दिया गया

कोकराझार।

असम से चौंकाने वाली घटना सामने आई है। कोकराझार कस्बे में जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ा दिया गया। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि इसके पीछे किसका हाथ है। कोकराझार के एसपी राजेन सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि अगर कोई संगठन मामले को लेकर केस दर्ज नहीं कराता है तो हम स्वत: संज्ञान लेकर मामले की जांच करेंगे। आपको बता दें कि त्रिपुरा में भाजपा के सत्ता में आते ही लेनिन की मूर्ति तोड़ी गई थी। इसके बाद देश के अलग अलग हिस्सों में मूर्तियों को तोडऩे या उन्हें अपवित्र करने की घटनाएं शुरू हो गई। 


गौरतलब है कि बीजेपी समर्थकों पर कथित रूप से आरोप लगा कि त्रिपुरा में जीत के बाद वामपंथ के प्रतीक लेनिन की 2 मूर्तियां गिरा दीं। त्रिपुरा का रिएक्शन तमिलनाडु में देखा गया। यहां बीजेपी दफ्तर पर बम फेंका गया। नफरत फैलाने वाली ये घटनाएं फिलहाल थम नहीं रही हैं। पश्चिम बंगाल में बीजेपी के आदर्शों में से एक पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चेहरे पर कालिख पोत दी गई। वहीं मेरठ में बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा पर भी हमला  कर उसे नुकसान पहुंचाया गया। दूसरी तरफ  केंद्र ने इन घटनाओं को देखते हुए एक नई एडवाइजरी जारी की है।


इन घटनाओं के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी जिन राज्यों में इस तरह की घटनाएं हो रही हैं, उनसे रिपोर्ट मांगी है। होम मिनिस्ट्री ने कहा है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। गृह मंत्रालय ने राज्यों को भी इस तरह की घटनाओं पर कदम उठाने के आदेश दिए हैं। ये भी कहा था कि जो लोग में इसमें शामिल होंगे, उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इन घटनाओं पर कहा था कि मैं सभी पार्टियों से अपील करता हूं कि इस तरह की घटनाओं में शामिल लोगों पर सख्त कार्रवाई करें। इस तरह की हरकतों को सही करार नहीं दिया जा सकता।

किस राज्य में क्या हुआ?

- त्रिपुरा: लेनिन की दो मूर्तियां गिराईं। यहां बीजेपी की सरकार है।

- कोयम्बटूर (तमिलनाडु) : बीजेपी के ऑफिस पर बम फेंका गया। यहां जयललिता की पार्टी एआईएडीएमके की सरकार है।

- वेल्लोर (तमिलनाडु): द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक और समाजसुधारक ईवी रामासामी पेरियार की प्रतिमा का चश्मा और नाक तोड़ दी गई।

- पश्चिम बंगाल: श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति पर कालिख पोती गई। यहां तृणमूल कांग्रेस की सरकार है। यहां लेफ्ट करीब 30 साल तक सत्ता में रहा है।


- मेरठ (उत्तर प्रदेश):यहां बाबा साहेब अम्बेडकर की प्रतिमा को कुछ लोगों ने नुकसान पहुंचाया। मूर्ति फौरन बदली गई।