अग्रेजों के शासन से भी बदतर है त्रिपुरा में भाजपा शासन

Daily news network Posted: 2018-05-14 15:17:43 IST Updated: 2018-05-14 17:37:38 IST
अग्रेजों के शासन से भी बदतर है त्रिपुरा में भाजपा शासन
  • त्रिपुरा में विपक्षी कांग्रेस ने अगरतला के कार्यालय में भाजपा के अगुवार्इ वाली सरकार पर आरोप लगाया है कि वह देश से विपक्ष का खात्मा करना चाहती है।

अगरतला।

त्रिपुरा में विपक्षी कांग्रेस ने भाजपा की अगुवार्इ वाली सरकार पर आरोप लगाया है कि वह देश से विपक्ष का खात्मा करना चाहती है। इसके साथ ही कांग्रेस का कहना है कि राज्य में भाजपा का शासन ब्रिटिश शासन से भी बदतर है। कांग्रेस ने राज्य की सरकार काे चेतावनी दी है कि वह विपक्ष को समाप्त करने के उनके मनसूबे को  कामयाब नहीं होने देगी आैर आने वाले 17 मई से बड़े पैमाने पर आंदोलन करेगी।


कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष बिराजीत सिन्हा ने कहा कि भाजपा की अगुवार्इ वाली सरकार ने अगरतला में 60 से 70 सालों से कांग्रेस कार्यालय पर बुल्डोजर चलाया है। साथ ही उन्होंने कहा कि अब अगर भाजपा प्रदेश में एक भी कार्यालय को ध्वस्त करेगी तो वे चुप नहीं बैठेंगे आैर 17 मई  को बड़े पैमाने पर आंदाेलन शुरू करेंगे। इसके साथ ही कांग्रेस ने ने कहा है कि त्रिपुरा में दो महीने का भाजपा का कार्यकाल ब्रिटिश शासन से बुरा रहा है।


 

कांग्रेस नेता गोपाल राॅय आैर तपन डे ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों और उनके ट्रेड यूनियनों को राजनीति करने का अधिकार है। इस कारण से कार्यालयों की जरूरत है। सरकार एक पक्षीय शासन स्थापित करने कर कोशिश कर रही है। वे नहीं चाहते हैं कि विपक्षी दल भी राजनीति करें। 



कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव ने वाम माेर्चा सरकार के द्वारा शुरू की गर्इ 33 सामाजिक पेंशन को रोक दिया, जिसने 4.50 लाख गरीब लोगों को लाभान्वित किया था। उन्होंने कहा कि सरकारी विभागों में पचास हजार पद खाली है। इसके बावजूद सरकार उन पर भर्तियां नहीं कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा का आड़े हाथाें लेते हुए कहा है कि आए दिन भाजपा आैर उसकी सहयोगी दल आर्इपीएफटी के कार्यकर्ताआें में संघर्ष होता रहता है, जिसके कारण से लोगों को बड़ी परेशानी उठानी पड़ रही है। वे स्थानीय निकायों के नेताआें को इस्तीफा देने के लिए मजबूर कर रहे हैं।



बता दें के पश्चिमी त्रिपुरा के के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में मिलिंद धर्मराॅव रामटेके आैर जिला के पुलिस प्रमुख अजीत प्रताप सिंह ने सोमवार को माकपा आैर कांग्रेस समेत कर्इ अन्य दलों के कर्इ कार्यालयों पर बुल्डोजर चला। इस पर उनका कहना था कि वे सरकारी जमीन पर बने हैं।